कुलदीप यादव© PTI
कुलदीप यादव© PTI

धर्मशाला में अपने टेस्ट करियर का आगाज करने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव बीच मैदान पर भावुक हो गए। वजह थी उनके करियर का पहला टेस्ट विकेट। ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वॉर्नर कुलदीप यादव का पहला शिकार बने। लंच से पहले अर्धशतक जमा चुके वॉर्नर को कुलदीप यादव ने मैच के 35वें ओवर में पैवेलियन लौटाया। कुलदीप की गेंद को कट करने की कोशिश में वॉर्नर स्लिप पर खड़े टीम इंडिया के कप्तान अजिंक्य रहाणे को कैच थमा बैठे। विकेट लेने के बाद कुलदीप कप्तान रहाणे से लिपट गए और उन्होंने आंखें बंद कर ली, वो थोड़े भावुक नजर आए। कुलदीप को पहला विकेट मिलते ही भारतीय टीम ने भी उन्हें शानदार अंदाज में बधाई थी। पैवेलियन में बैठे कोच अनिल कुंबले ने कुलदीप के लिए खड़े होकर तालियां बजाई।  [भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, चौथा टेस्ट, लाइव क्रिकेट स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें…]

वॉर्नर को आउट करने के बाद कुलदीप यादव थमे नहीं। उन्होंने अच्छी लाइन लेंथ पर गेंद फेंकनी जारी रखी जिसका फल उन्हें 45वें ओवर में मिला। कुलदीप की चाइनामैन गेंद के जाल में पीटर हैंड्सकॉम्ब फंस गए, वो कुलदीप की गेंद पर ड्राइव खेलने की कोशिश में बोल्ड हो गए। हैंड्सकॉम्ब ने 23 गेंदों में 8 रन बनाए। कुलदीप ने तीसरा शिकार ग्लेन मैक्सवेल का किया। मैक्सवेल ने कुलदीप की गेंद पर चौका लगाकर उन्हें दबाव में डालने की कोशिश की। लेकिन यादव ने मैक्सवेल पर जबर्दस्त पलटवार किया। कुलदीप ने गुगली पर मैक्सवेल के विकेट उड़ा दिए और वो भी सिर्फ 8 रन पर पैवेलियन लौट गए। कुलदीप की गेंदबाजी देखकर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर भी उनके मुरीद हो गए। सचिन ने ट्वीट कर कहा कि ‘मैं कुलदीप की गेंदबाजी और उनकी शुरुआत से खासा प्रभावित हूं, ऐसे ही खेलते रहो, धर्मशाला टेस्ट में चमकने का मौका है’।

कुलदीप की ताकत कुलदीप की सटीक लाइन लेंथ और गेंद पर गजब का कंट्रोल उनकी ताकत है। कुलदीप ने अपने पहले ओवर से ही कंगारू बल्लेबाजों को परेशान करना शुरू कर दिया था। कुलदीप चाइनामैन के साथ साथ गुगली गेंद का भी इस्तेमाल किया। उनकी गुगली पर कई बार वॉर्नर और हैंड्सकॉम्ब चकमा खा बैठे और यही हाल ग्लेन मैक्सवेल का भी हुआ। आपको बता दें कुलदीप यादव भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज हैं और उनकी गेंदबाजी को देखकर लग रहा है कि ये खिलाड़ी लंबी रेस का घोड़ा है ।