के एल राहुल © Getty Images
के एल राहुल © Getty Images

टीम इंडिया के ओपनर के एल राहुल ने एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने बल्ले का दम दिखाया। के एल राहुल ने पहली पारी में 9 चौके और एक छक्के की मदद से 60 रन बनाए। राहुल के टेस्ट करियर का ये छठा और इस सीरीज का 5वां अर्धशतक है। के एल राहुल टीम इंडिया के दूसरे ओपनर बन गए हैं जिसने एक सीरीज में 5 या उससे ज्यादा अर्धशतक लगाए हों। राहुल से पहले सुनील गावस्कर ये कारनामा कर चुके हैं जिन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 1970-71 में एक सीरीज में 7 अर्धशतक लगाए थे। वैसे के एल राहुल पहले ऐसे भारतीय ओपनर बन गए हैं जो सीरीज में 5 अर्धशतक तो लगा चुके हैं लेकिन उनके नाम एक भी शतक नहीं है।

 

के एल राहुल की जुझारू पारी

धर्मशाला टेस्ट के दूसरे दिन टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत की उम्मीद थी, जिसे के एल राहुल ने अंजाम दिया। के एल राहुल ने पहले पिच की तेजी और उछाल को परखा और उसके बाद अपने शॉट्स खेले। दूसरे छोर पर मुरली विजय जरूर 11 रन बनाकर आउट हो गए लेकिन के एल राहुल ने मोर्चा संभाले रखा। राहुल को भी 10 रन के निजी स्कोर पर मौका मिला जब कमिंस की गेंद पर मैट रेनशॉ ने उनका कैच छोड़ दिया। लेकिन इसके बाद के एल राहुल ने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर क्रीज पर खूंटा गाड़ लिया। राहुल ने अच्छी गेंदों को जाने दिया और खराब गेंदों को बाउंड्री लाइन के पार पहुंचाया। टीम इंडिया के ओपनर ने ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टीव ओ कीफ की गेंद पर चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। वैसे राहुल एक बार फिर बड़े स्कोर से चूक गए। 60 रन के निजी स्कोर पर उन्होंने पैट कमिंस की गेंद पर अपना विकेट गंवा दिया। लेकिन राहुल ने पैवेलियन लौटने से पहले चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 87 रनों की अहम साझेदारी जरूर की।[ये भी पढ़ें: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, चौथे टेस्ट का लाइव स्कोरकार्ड]