123
भारतीय कप्तान विराट कोहली © Getty Images

धर्मशाला में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आखिरी टेस्ट शुरू होने में सिर्फ 1 दिन बचा है और अबतक ये साफ नहीं हो पाया है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली प्लेइंग इलेवन में खेलेंगे या नहीं। चौथे टेस्ट से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली ने कहा ‘फिटनेस के मामले में जो टीम के दूसरे खिलाड़ियों पर लागू होता है वही मुझ पर भी लागू होगा, अगर मैं 100 फीसदी फिट हुआ तभी धर्मशाला टेस्ट में खेलूंगा। मेरी फिटनेस के बारे में टीम फिजियो बताएंगे, मैच से पहले मेरा फिटनेस टेस्ट होगा’

 

विराट ने ये भी कहा कि ‘मुझे खराब फिटनेस के चलते चोट नहीं लगी, हमें थोड़ा इंतजार करना होगा, क्योंकि हम उस टीम के खिलाफ खेल रहे हैं जिसके गेंदबाज 140 प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं। इसके साथ-साथ मैं फील्डिंग कर पाऊंगा या नहीं ये सब पहलू हमें ध्यान में रखने होंगे, हां मैं कप्तान और एक खिलाड़ी के तौर पर मैदान पर उतरना चाहता हूं लेकिन हमें फिजियो की रिपोर्ट का इंतजार करना होगा।’

विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि टीम इंडिया उनके ऊपर निर्भर नहीं है। उनके रन नहीं बनाने के बावजूद भी भारतीय बल्लेबाजों ने रन बनाए हैं और जीत हासिल की है। ‘मैंने इस सीरीज में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है फिर भी टीम जीती है। रांची में टीम इंडिया ने मुश्किल मौके पर अच्छा प्रदर्शन किया, चेतेश्वर पुजारा, साहा, जडेजा और मुरली विजय ने मोर्चा संभाला इसके लिए मुझे उनपर गर्व है।’

आपको बता दें विराट कोहली को रांची टेस्ट के दौरान चोट लगी थी। ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के वक्त विराट फील्डिंग करते हुए अपने दाएं कंधे पर चोट लगा बैठे थे जिसके चलते वो लगभग 2 दिनों तक पैवेलियन में बैठे रहे थे। विराट की चोट को देखते हुए ही टीम इंडिया मैनेजमेंट ने कवर के तौर पर मुंबई के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को धर्मशाला बुलाया है जो कि टीम से जुड़ चुके हैं। विराट की फिटनेस पर फैसला मैच से पहले जरूर होगा लेकिन एक अच्छी खबर ये है कि विराट कोहली ने शुक्रवार को धर्मशाला में बल्लेबाजी की प्रैक्टिस की और उस दौरान उनके कंधे पर पट्टी नहीं बंधी हुई थी।