© AFP
© AFP

नागपुर। भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि मैन ऑफ द सीरिज हार्दिक पांड्या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4-1 से जीती श्रृंखला में टीम के लिये सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में उभरे हैं। कोहली ने ऑलराउंडर पंड्या की खास तौर पर तारीफ की जिन्होंने 222 रन बनाने के अलावा छह विकेट भी लिए। कप्तान ने कहा,‘‘हार्दिक पांडया श्रृंखला में टीम के लिये सबसे बड़ी उपलब्धि हैं। चयन की दुविधा मेरे लिये बतौर कप्तान अच्छा सिरदर्द है क्योंकि अनेक खिलाड़ियों में से सर्वश्रेष्ठ 11 को चुनना हमेशा अच्छा होता है।” कोहली ने तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की भी तारीफ की ।

उन्होंने कहा,‘‘भुवी और बुमराह ने हमारे लिये उम्दा गेंदबाजी की है। उमेश और शमी ने भी मौका मिलने पर अच्छा प्रदर्शन किया । बीच के ओवरों में कुलदीप और चहल ने अच्छी गेंदबाजी की।’’ लगातार छठी द्विपक्षीय श्रृंखला जीतने वाली टीम के प्रदर्शन पर खुशी जताते हुए उन्होंने कहा ,‘‘यह बहुत अच्छी जीत है। हम दबाव में रहे लेकिन हमने चार बार चार मैच जीतकर वापसी की। श्रृंखला से बहुत कुछ सकारात्मक मिला।’’

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा कि भारतीय टीम जीत की हकदार थी जिसने बेहतर क्रिकेट खेला। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम 50 रन पीछे रह गई। उन्होंने कहा ,‘‘इस पिच पर 300 रन बनने चाहिये थे। फिंच और डेविड ने अच्छा खेला और बड़ा स्कोर बनाने के लिए शीर्ष चार बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना चाहिये था।’’  [ये भी पढ़ें: आखिरी वनडे में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से धोया, सीरीज और नंबर-1 की कुर्सी पर कब्जा]

प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट पांड्या ने कहा कि अभी उन्हें लंबा रास्ता तय करना है और क्रिकेटर के करियर में सुधार की गुंजाइश हमेशा होती है। मैन ऑफ द मैच रोहित शर्मा ने कहा ,‘‘मेरी रणनीति हमेशा सरल रही है। मैं चीजों को ज्यादा पेचीदा नहीं बनाता। जब से मैंने पारी की शुरूआत की, मैने हमेशा चीजों को सरल रखा है।’’