© Getty Images
© Getty Images

नागपुर वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट पर 242 का स्कोर खड़ा किया और टीम इंडिया को 243 रनों का लक्ष्य दिया है। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वॉर्नर ने सबसे ज्यादा 52, मार्कस स्टोइनिस ने 46, ट्रेविस हेड ने 42 रनों की पारी खेली। एक समय ऑस्ट्रेलिया ने 118 रनों पर अपने 4 विकेट गंवा दिए थे। ऐसी विपरीत परिस्थिति में ट्रैविस हेड और मार्कस स्टोइनिस ने पांचवें विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी निभाई और टीम को सम्मानजनक स्कोर की ओर ले गए। भारत की ओर से अक्षर पटेल ने 3, जसप्रीत बुमराह ने 2, केदार जाधव, भुवनेश्वर कुमार और हर्दिक पांड्या ने 1-1 विकेट लिए।

मिली अच्छी शुरूआत: इससे पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम को एक बार फिर से डेविड वॉर्नर और एरन फिंच ने अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने मैदान के चारों तरफ स्ट्रोक लगाए। जब ऐसा लगने लगा कि एक बार फिर से दोनों स्कोर को 100 के पार ले जाएंगे लेकिन तभी हार्दिक पांड्या ने एरन फिंच को बुमराह के हाथों झिलवा दिया।

दोनों ने पहले विकेट के लिए 11.3 ओवरों में 66 रन जोड़े। फिंच 36 गेंदों में 32 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने 6 चौके लगाए। इसके बाद डेविड वॉर्नर ने स्टीवन स्मिथ के साथ पारी को आगे बढ़ाया और स्कोर को 100 तक ले गए। इस दौरान वॉर्नर ने अपने वनडे करियर का 17वां अर्धशतक पूरा किया। वैसे अर्धशतक के थोड़ी देर बाद ही वॉर्नर 62 गेंदों में 53 रन बनाकर अक्षर पटेल की गेंद पर आउट हो गए। उन्होंने 5 चौके लगाए। वॉर्नर के आउट होने के वक्त टीम का स्कोर 100 रन था।

118 रनों पर गिर गए थे 4 विकेट: अब जिम्मेदारी थी कप्तान स्टीवन स्मिथ पर कि वह पारी को आगे बढ़ाएं लेकिन स्मिथ ज्यादा देर तक टिके नहीं रह सके और 16 रन बनाकर केदार जाधव की गेंद पर आउट हो गए। दो ओवर के बाद नए बल्लेबाज पीटर हैंड्सकॉम्ब भी 17 गेंदों में 13 रन बनाकर आउट हो गए। इस तरह से ऑस्ट्रेलिया के 118 रनों पर 4 विकेट गिर गए और पूरी टीम दबाव में आ गई।

मार्कस स्टोइनिस और ट्रैविस हेड ने निभाई संकटमोचक की भूमिका: ऐसे में लगा कि ऑस्ट्रेलिया टीम जल्दी ही बिखर जाएगी। लेकिन तभी मार्कस स्टोइनिस और ट्रैविस हेड जम गए और कुछ देर आंखें जमाने के बाद भारतीय गेंदबाजों पर धावा बोल दिया। ऑस्ट्रेलिया 200 से ऊपर का स्कोर बना चुकी थी और तेजी से आगे बढ़ रही थी। अब लगा कि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया को इस मैच में भी बड़ा स्कोर बनाने से नहीं रोक पाएगी। लेकिन तभी मैच में एक बार फिर से पांसा पलटा।

एक बार फिर से पलटा पांसा: पारी के 43वें ओवर में आंखें जमा चुके ट्रैविस हेड को अक्षर पटेल ने बोल्ड कर दिया। यह ऑस्ट्रेलिया के लिए एक तगड़ा झटका था। इस तरह से 87 रनों की साझेदारी टूट गई। हेड ने 42 रन बनाए। इसके पहले कि ऑस्ट्रेलियाई पारी संभलती जसप्रीत बुमराह ने मार्कस स्टोइनिस को एल्बीडब्ल्यू आउट कर दिया। स्टोइनिस ने 46 रन बनाए। इस तरह से ऑस्ट्रेलिया ने 210 रनों पर अपने 6 विकेट गंवा दिए।

आखिरी सात ओवरों में दोनों भारतीय तेज गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को खुलकर स्ट्रोक खेलने का मौका नहीं दिया और कुल 31 रन बनाने में ही ऑस्ट्रेलिया टीम कामयाब हुई। मैथ्यू वेड इस दौरान 20 रन बनाकर आउट हुए तो जेम्स फॉकनर 12 रन बनाकर रन आउट हो गए। नाथन कूल्टर नाइल को भुवनेश्वर कुमार ने बोल्ड कर दिया। इस तरह से ऑस्ट्रेलिया टीम 50 ओवरों में 9 विकेट पर 242 रनों का स्कोर ही बना सकी।