Virat Kohli © AFP

5 मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम को 4-1 से हरा दिया। टीम इंडिया को सिर्फ बैंगलोर में हार मिली लेकिन उसने चेन्नई, कोलकाता, इंदौर और नागपुर में कंगारू टीम को हर मोर्चे पर मात दी। टीम इंडिया के लिए हार्दिक पांड्या, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया लेकिन टीम की इस जीत में कप्तान विराट कोहली नाकाम रहे। कप्तान के तौर पर विराट कोहली के लिए सीरीज जबर्दस्त रही लेकिन एक बल्लेबाज के तौर पर विराट कोहली के लिए ये सीरीज मायूसी लेकर आई।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खराब प्रदर्शन

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज में कप्तान विराट कोहली के बल्ले से 36.00 के औसत से 180 रन निकले। विराट कोहली के वनडे करियर में किसी भी सीरीज के दौरान ये उनका तीसरा सबसे खराब प्रदर्शन है। तीसरी बार ऐसा हुआ है जब किसी बाइलेट्रल सीरीज में विराट कोहली ने इतने कम रन बनाए हैं। विराट कोहली ने साल 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में सिर्फ 155 रन बनाए थे। अपने करियर की पहली वनडे सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ 2008 में उनके बल्ले से सिर्फ 159 रन निकले थे। ऑस्ट्रेलिया पर जीत हासिल करने के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने दिए ये खास मैसेज

अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैचों में विराट कोहली ने सिर्फ 180 रन बनाए। विराट ने इस सीरीज में सिर्फ एक अर्धशतक लगाया और वो एक भी शतक नहीं लगा सके। आपको बता दें विराट कोहली ने पिछली 6 बाइलेट्रल सीरीज में शतकीय पारी जरूर खेली थी लेकिन इस बार वो नाकाम रहे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विराट कोहली का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 92 रन रहा। इस सीरीज से पहले उन्होंने द.अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में शतकीय पारी खेली थी।