India vs Australia: Ajinkya Rahane is brave, smart and born to lead cricket teams, says Ian Chappell
अजिंक्य रहाणे (Twitter)

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल का कहना है कि अजिंक्य रहाणे एक बहादुर और चालाक लीडर हैं जो कि टीमों को नेतृत्व करने के लिए पैदा हुए हैं।

भारतीय कप्तान विराट कोहली के स्वदेश लौटने के बाद टीम इंडिया ने रहाणे की कप्तानी में बॉक्सिंग डे टेस्ट में 8 विकेट से जीत हासिल कर चार मैचों की सीरीज में 1-1 से वापसी की।

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में चैपल ने कहा, “ये आश्चर्य की बात नहीं है कि अजिंक्य रहाणे ने एमसीजी में भारतीय टीम का शानदार नेतृत्व किया। कोई भी शख्स जिसने साल 2017 में उसे धर्मशाला में नेतृत्व करते देखा है वो समझेगा कि ये वो इंसान है जो क्रिकेट टीम का नेतृत्व करने के लिए पैदा हुआ है।”

धर्मशाला और मेलबर्न में खेले गए दोनों मैचों की तुलना करते हुए चैपल ने कहा, “साल 2017 के मैच और एमसीजी के मैच में काफी समानताएं थी। पहली बात तो ये उन्हीं दो कड़े प्रतिद्वंद्वियों के बीच था, फिर पहली पारी में रवींद्र जडेजा का अहम योगदान, और आखिर में रहाणे का बड़ा स्कोर हासिल करने की कोशिश में तेज रन रेट से बल्लेबाजी करना।”

गाबा में ही चौथा टेस्ट मैच खेलेगी ऑस्ट्रेलियाई टीम: मैथ्यू वेड

पूर्व कप्तान ने कहा, “जिस पल ने धर्मशाला मैच में मेरा ध्यान खींचा वो तब आया जब रहाणे ने शतकीय साझेदारी बना चुके डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ के खिलाफ डेब्यू मैच खेल रहे बाएं हाथ के स्पिनर कुलदीप यादव को अटैक में बुलाया। ये एक साहसिक कदम था, मुझे लगता है और ये एक चालाक कदम भी साबित हुआ। यादव ने वार्नर का विकेट लिया, रहाणे ने पहली स्लिप पर शानदार कैच पकड़ा और टीम ने विकेट से जीत हासिल की। ये रहाणे की सफलता का हिस्सा है; वो बहादुर और चालाक है।”

उन्होंने आगे कहा, “हालांकि उसकी लीडरशिप में इन दो के अलावा और भी कई गुण हैं। जब चीजें हाथ से निकल रही होती है तो वो शांत रहता है। उसने अपने साथियों का सम्मान जीता है, जो कि कप्तानी का सबसे अहम पहलू है। और वो जरूरत के समय रन बनाता है जो कि उसकी टीम के मन में उसके लिए सम्मान को और बढ़ाता है।”