विराट कोहली (Virat Kohli) की गैर-मौजूदगी में भारत की कप्तानी कर रहे अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने अपनी कप्तानी और अपने खेल से सभी को अपना मुरीद बना लिया है. मेलबर्न में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के पहले दो दिनों तक उनकी कप्तानी और उनकी बैटिंग की चर्चा जोरों पर है. दुनिया भर के पूर्व क्रिकेटर रहाणे की कप्तानी की तारीफ कर रहे हैं इसके अलावा रविवार को उनकी शतकीय पारी की जमकर तारीफ हो रही है. पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) रहाणे की तारीफ करते हुए कहा है कि वह आगे आकर टीम को लीड कर रहे हैं.

गावस्कर ने कहा कि भारत के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे बतौर कप्तान अपनी रणनीति को लेकर काफी आक्रामक हैं. गावस्कर एबीसी स्पोटर्स से चर्चा कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘रहाणे टेस्ट मैच में अच्छा कर रहे हैं. वह एक कप्तानी पारी खेल रहे हैं और खुद को फ्रंट से लीड कर रहे हैं. हर कोई उनकी कप्तानी, उनकी फील्ड प्लेसमेंट और गेंदबाजी बदलाव की तारीफ कर रहा है. मैं उनसे सहमत हूं. वह शांत हैं.’

भारत के नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के साथ रहाणे की तुलना करते हुए गावस्कर ने कहा कि दाएं हाथ का बल्लेबाज कप्तान के रूप में अपनी रणनीति को लेकर काफी आक्रामक हैं.

उन्होंने कहा, ‘विराट (कोहली) कुछ ज्यादा ही भावुक और विरोधी के चेहरे के सामने होते हैं. रहाणे कुछ ज्यादा ही शांत हैं. उनके शरीर की भाषा में आक्रामकता का अभाव है लेकिन उनकी रणनीति में नहीं. वह कप्तान के रूप में अपनी रणनीति को लेकर काफी आक्रामक हैं. हमने देखा कि लेग-गली, स्लिप और फॉरवर्ड शॉर्ट लेग (शनिवार को ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के दौरान) के साथ फील्ड प्लेसिंग में वह काफी आक्रामक थे.’

ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 195 रन पर समेटने के बाद अजिंक्य रहाणे ने मैच के दूसरे दिन तब पारी को संभाला जब भारत सिर्फ 64 रनों पर ही अपने 3 विकेट गंवा चुका था, जिसमें चेतेश्वर पुजारा का भी विकेट शामिल था. 32 वर्षीय रहाणे के नाबाद 104 रनों की मदद से भारत ने ऑस्ट्रेलिया के साथ यहां मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) पर खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार का खेल खत्म होने तक भारत को ऑस्ट्रेलिया पर 82 रनों की बढ़त दिला दी है.

इनपुट : IANS