india vs australia coach justin langer says he do no coach steve smith he coaches himself
स्टीव स्मिथ @ICCTwitter

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) भारत के खिलाफ खेली जा रही बॉर्डर-गावस्कर (Border Gavaskar Trophy) ट्रॉफी में फॉर्म से भटके हुए नजर आ रहे हैं. स्टीव स्मिथ अभी तक खेले गए 2 टेस्ट मैच की 4 पारियों में सिर्फ 10 रन ही बना पाए हैं. अमूमन वह किसी भी फॉर्मेट की क्रिकेट में बड़े-बड़े स्कोर के लिए जाने जाते हैं. लेकिन इस बार रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने उन पर ऐसा शिकंजा कसा है कि वह टेस्ट सीरीज की पहली 4 पारियों में उससे निकल नहीं पाए हैं. लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खेमे को अपने इस स्टार बल्लेबाज से समय रहते वापसी की उम्मीद है.

दोनों टीमों को अभी 2 और टेस्ट मैच खेलने हैं. 7 जनवरी से दोनों टीमें सिडनी में तीसरे टेस्ट मैच की शुरुआत करेंगी. इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) आज वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेस के माध्यम से मीडिया से रू-ब-रू हुए. इस दौरान जस्टिन लैंगर से सवाल पूछा गया कि वह स्टीव स्मिथ को कोचिंग में कैसे देते हैं. इसके जवाब में कोच लैंगर ने कहा, ‘मैं उन्हें कोचिंग नहीं देता हूं. वह खुद को कोचिंग देते हैं और मुझे पूरा भरोसा है कि वह अपनी फॉर्म पर काम कर रहे हैं.’

इस पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज ने उम्मीद जताई कि बड़े खिलाड़ी खराब परफॉर्मेंस करने पर खुद को जगाना जानते हैं और वह जब फ्लॉप होते हैं तो जल्दी ही बड़े स्कोर के साथ खुद को साबित करते हैं. यही वह स्टीव स्मिथ से उम्मीद लगा रहे हैं. लैंगर ने कहा कि वह नेट्स में खूब पसीना बहा रहे हैं और ऑस्ट्रेलिया के लिए समस्याओं का समाधान ढूंढने वाले महान खिलाड़ी हैं.

उन्होंने कहा कि जरा सोचिए अगर वह रन करते हैं तो हमारी टीम को कैसा लगेगा. हम बस उनसे यही उम्मीद कर रहे हैं. उन्होंने इस सीरीज में अभी तक अच्छा नहीं किया है और वह इसे सबसे पहले स्वीकार कर रहे हैं. लेकिन महान खिलाड़ी बावसी करना बखूबी जानते हैं.