India vs Australia: During Test Series, we will not see friendly atmosphere like limited over series, says Pat Cummins
Virat Kohli with Pat Cummins @ Twitter

India vs Australia: ऑस्‍ट्रेलिया के शीर्ष तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat Cummins) ने शुक्रवार को कहा कि भारत के खिलाफ (India vs Australia) आगामी टेस्ट सीरीज  ‘थोड़ी आक्रामक’ हो सकती है हालांकि सीमित ओवरों की सीरीज में भी दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच दोस्ताना छींटाकशी ही देखी गई। चार टेस्ट मैचों की सीरीज 17 दिसंबर से शुरू होगी ।

पैट कमिंस (Pat Cummins) ने एक वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ छींटकाशी के मामले में अभी तक यह दौरा दोस्ताना रहा है । मैदान पर सभी मुस्कुराते नजर आये। लेकिन टेस्ट क्रिकेट की बात अलग है जिसमें पांच दिन तक खेलना होता है। इसमें इतनी दोस्ती नहीं दिखेगी क्योंकि ये काफी प्रतिस्पर्धी और चुनौतीपूर्ण होगी।’’

इंग्‍लैंड के भारत दौरे का पूरा शेड्यूल जारी, 5 फरवरी को पहला मैच, यहां होगा D/N Test

उन्होंने कहा कि उन्हें विराट कोहली (Virat Kohli) को गेंदबाजी करने का इंतजार है । ‘‘ मुझे खुशी है कि स्टीव स्मिथ (Steve Smith) को गेंदबाजी नहीं करनी पड़ती। मैने पिछले सप्ताह केन विलियमसन (Kane Williamson) का दोहरा शतक देखा। खुश हूं कि मैं वहां नहीं खेल रहा था। कई बार कुछ बल्लेबाजों के साथ प्रतिस्पर्धा बड़ी हो जाती है ।’’

पैट कमिंस (Pat Cummins) ने कहा ,‘‘ मुझे याद है जब ग्लेन मैकग्रा वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा (Brian Lara) को गेंदबाजी करते थे। आप इसलिये उसे देखते थे कि आपको लगता था कि कुछ होने वाला है ।देखते है। कि इस श्रृंखला में क्या होता है।’’

Parthiv Patel Retirement: रणजी खेलने से पहले मिला भारत के लिए डेब्‍यू का मौका, कुछ ऐसा रहा  सफर

ऑस्‍ट्रेलिया के भावी टेस्ट कप्तान माने जा रहे पैट कमिंस (Pat Cummins) ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाज भी कप्तान हो सकते हैं। ‘‘ मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी करना एक गेंदबाज के लिये सबसे आसान है। आप काफी व्यस्त रहते हैं और गेंदबाजी में काफी प्रयास करते हैं । अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ज्यादा गेंदबाज कप्तान नहीं है लेकिन पता नहीं ऐसा क्यो है।’’

कमिंस ने कहा कि आगामी टेस्ट श्रृंखला में विकेटों से उन्हें रफ्तार और उछाल मिलने की उम्मीद है। ‘‘बल्ले और गेंद में संतुलन होना चाहिये । टेस्ट मैच में एक टीम जाकर 600 रन बना दे तो देखने में क्या मजा आयेगा । गेंदबाज और बल्लेबाज दोनों के लिये कुछ होना चाहिये । ऑस्‍ट्रेलिया में विकेटों से रफ्तार और उछाल जरूर मिलेगी।’’