India vs Australia: Ian Chappell, Michael Clarke push for Will Pucovski’s selection as opener
Will Pukovoski @afp (file image)

ऑस्ट्रेलिया के युवा ओपनर विल पुकोवस्की इस समय घरेलू क्रिकेट में जमकर रन बना रहे हैं। विक्टोरिया के पुकोवस्की ने शेफील्ड शील्ड में लगातार दो दोहरे शतक जड़ते हुए दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 255 जबकि पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 202 रन की पारी खेली। 22 साल का ये बल्लेबाज मौजूदा सीजन में अब तक 457 रन बना चुके हैं।

इयान चैपल और माइकल क्लार्क सहित पूर्व कप्तान चाहते हैं कि भारत के खिलाफ चार मैचों की आगामी टेस्ट श्रृंखला में युवा सलामी बल्लेबाज विल पुकोवस्की को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम में जगह मिले।

ऑस्ट्रेलियाई पेसर ने बायो बबल पर उठाए सवाल, कहा-कई खिलाड़ियों ने…

विक्टोरिया के पुकोवस्की ने शेफील्ड शील्ड में लगातार दो दोहरे शतक जड़ते हुए दक्षिण आस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 255 जबकि पश्चिमी आस्ट्रेलिया के खिलाफ 202 रन की पारी खेली। 22 साल के पुकोवस्की मौजूदा सत्र में अब तक 457 रन बना चुके हैं और क्लार्क का मानना है कि एडीलेड में शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला में उन्हें भारत का सामना करने का मौका मिलना चाहिए।

क्लार्क ने स्काई स्पोर्ट्स रेडिया से कहा, ‘उसे चुनिए… यह ऑस्ट्रेलियाई टीम में उसे जगह देने का शानदार तरीका है।’ उन्होंने कहा, ‘हां, यह अच्छी टीम के खिलाफ है, भारत, लेकिन वह बच्चा तैयार है। (डेविड) वार्नर उसके सलामी जोड़ीदार होंगे, (मार्नस) लाबुशेन तीसरे नंबर पर, (स्टीव) स्मिथ चौथे नंबर पर, युवा बल्लेबाज के रूप में आपको अपने आसपास ऐसे ही नेतृत्व और अनुभव की जरूरत होती है।’

वर्ष 1971 और 1975 के बीच आस्ट्रेलिया की कप्तानी करने वाले चैपल ने कहा कि पुकोवस्की टेस्ट सलामी बल्लेबाज जो बर्न्स की तुलना में लंबे समय के लिए बेहतर विकल्प हो सकते हैं। बर्न्स ने पिछली गर्मियों में आस्ट्रेलिया के लिए 32 की औसत से रन बनाए थे और मौजूदा सत्र में क्वीन्सलैंड की ओर से उन्होंने 7, 29, 0 और 10 रन की पारी खेली है।

फिल्डिंग में बाधा पहुंचाने पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाज को दिया गया आउट

चैपल ने एबीसी से कहा, ‘बर्न्स ने इन गर्मियों में बिलकुल भी रन नहीं बनाए है और ऐसे में ऐसा समय आता है जब आप स्वयं से पूछते हो कि बर्न्स किस तरह जा रहे हैं?’’ उन्होंने कहा, ‘‘वह संभवत: सही दिशा में नहीं जा रहा और पुकोवस्की को मौका देने का समय आ गया है।’

चैपल ने कहा, ‘उसने छह या सात प्रथम श्रेणी शतक लगाए हैं। इसमें कुछ दोहरे शतक भी शामिल है। वह तैयार है।’ पुकोवस्की ने 22 प्रथम श्रेणी मैचों में छह शतक की मदद से 57.93 की औसत से रन बनाए हैं।