India vs Australia: India batsmen should stay longer at crease to frustrate bowlers, says Virat Kohli
Cheteshwar Pujara and Virat Kohli @ AFP

एडिलेड टेस्‍ट जीतने के बाद टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने स्‍वीकार किया कि मैच के पहले दिन टीम ने सही तरह से बल्लेबाजी नहीं की। उन्‍होंने साथियों से आगे आने वाले मैचों में अधिक धैर्य और जज्बा दिखाने की सलाह दी, जिससे ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाजों को हताश किया जा सकता है।

भारत ने पहली पारी में 86 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे लेकिन चेतेश्वर पुजारा की 123 रन की पारी की बदौलत टीम 250 रन बनाने में सफल रही और बाद में टेस्ट मैच को 31 रन से जीता।`विराट ने कहा, ‘‘पहली पारी में, हमने पहले सेशन में सूझबूझ के साथ बल्लेबाजी नहीं की और उनके गेंदबाजों को मैच में वापसी का मौका दिया।’’

पढ़े – पहले से पता था कि ऑस्ट्रेलियाई पिचों से क्या उम्मीद करनी है: चेतेश्वर पुजारा

कप्‍तान ने कहा, ‘‘हम क्रीज पर अधिक देर टिकेंगे तो उन्हें दूसरे या तीसरे स्पैल के लिए आना होगा और आपके पास रन बनाने के अधिक मौके होंगे क्योंकि जब कुकाबुरा गेंद सॉफ्ट हो जाती है तो आप आसानी से शॉट खेल सकते हो।’’

दूसरी पारी में मुरली विजय (18) और केएल राहुल (44) ने पहले विकेट के लिए 63 रन जोड़कर भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई। कोहली ने कहा, ‘‘विजय और राहुल ने दूसरी पारी में अच्छी बल्लेबाजी की, मुझे लगता है कि उस समय आसमान में बादल छाए थे और वह काफी महत्वपूर्ण चरण था, उन्होंने गेंदबाजों को निशाना बनाया, विशेषकर राहुल ने। मुझे लगता है कि इन योगदानों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। 323 रन के लक्ष्य में 44 रन का योगदान बड़ा है।’’

पढ़े – एडिलेड में रिषभ पंत ने की पैट कमिंस की स्लेजिंग, वायरल हुआ वीडियो

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस मैच में खेलने के तरीके पर सभी को गर्व होना चाहिए। प्रत्येक बल्लेबाज चाहता है कि वो 40 रन को शतक में बदले और अगले मैच में हम सभी यह करने का प्रयास करेंगे। अगर मैच आपके नियंत्रण में है तो इसका फायदा उठाओ।

(एजेंसी इनपुट के साथ)