India vs Australia: It is a matter of concern that the MCG’s ‘drop-in’ pitches have not been tested, says CEO Stuart Fox
विराट कोहली, टिम पेन (Twitter)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच यानि कि बॉक्सिंग डे टेस्ट 26 दिसंबर से मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर होना है। इस बीच एमसीजी के प्रमुख स्टुअर्ट फॉक्स ने कहा है कि इस मैच के लिए इस्तेमाल होने वाली ‘ड्रॉप-इन पिच’ को परखने का मौका नहीं मिल पाएगा जो कि चिंता का विषय है।

फॉक्स ने ‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ से कहा, ‘‘ये मेरे लिये चिंता की बात है क्योंकि मैं उन्हें पिचों के ट्रॉयल के लिए हरसंभव मौका देना चाहूंगा।’’

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया में मैच से कुछ दिन पहले पिच को जांचने के लिए ‘ड्रॉप इन पिच’ का इस्तेमाल किया जाता है और उस पिच पर ट्रॉयल्स मैच का आयोजन करवाया जाता है। लेकिन एमसीजी में इस सप्ताह होने वाले दो दिवसीय ट्रायल्स मैच को रद्द कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें इस पर एक परीक्षण मैच कराना था और क्रिकेट विक्टोरिया हमारा समर्थन कर रहा था, हमें दो दिवसीय मैच कराना था और हमने इसके लिए पिच तैयार कर ली थी लेकिन बीती रात पहले इसे रद्द कर दिया और ऐसा दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में उत्पन्न हुए हालात के कारण हुआ।’’

Ind vs Aus: 500 टेस्ट विकेट हासिल करने की योजना बने रहे हैं लियोन

मेलबर्न में कोविड-19 संक्रमण फैलने के कारण शेफील्ड शील्ड के मैच एमसीजी के बजाय एडीलेड में कराए गए और एडिलेड में वायरस के फैलने के कारण इस हफ्ते एमसीजी पर दो दिवसीय ट्रायल मैच की योजना भी पूरी नहीं हो सकी।

फॉक्स ने कहा, ‘‘ये दर्शाता है कि हम अब भी दिन प्रतिदिन कितने कमजोर हैं। आदर्श रूप से हम एक मैच कराना पसंद करते और हम अब भी इस पर काम कर रहे हैं, लेकिन, शायद ऐसा नहीं हो पाएगा।’’

बाक्सिंग डे टेस्ट 26 दिसंबर से शुरू होगा। ‘ड्राप-इन’ पिचें स्टेडियम से बाहर तैयार की जाती हैं और मैच के लिए उन्हें स्टेडियम में बिछा दिया जाता है।