India vs Australia: Justin Langer believes Cheteshwar Pujara and Virat Kohli big difference between the two Team
Cheteshwar Pujara with Virat Kohli (File Photo) @ AFP

मेलबर्न में 137 रनों से जीत दर्ज करने के बाद टीम इंडिया ने सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली है। अब दोनों टीमों का मुकाबला सिडनी में तीन जनवरी से होगा। ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने अपनी टीम में विश्वस्तरीय बल्लेबाज नहीं होने पर खेद जताया और कहा कि भारत की तरफ से विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने सीरीज में मुख्य अंतर पैदा किया।

लैंगर ने सोमवार को कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो इस चरण में सीरीज में मुख्य अंतर पुजारा और कोहली ने पैदा किया है। पुजारा ने 53 रन प्रति पारी और कोहली ने 46 रन प्रति पारी की औसत से रन बनाये हैं जबकि दूसरी पारी में दोनों खाता भी नहीं खोल पाये थे। इससे हमें यह सबक मिलता है कि हमने जो भी दबाव बनाया उन्होंने उसे खत्म किया।’’

पढ़ें:- भारत के खिलाफ सिडनी टेस्ट के लिए स्टीव वॉ ने चुनी प्लेइंग इलेवन, फिंच बाहर

उन्होंने कहा, ‘‘यह बल्लेबाजी की कला है, सही है ना। यह दबाव झेलने से जुड़ा हुआ है। आपको टेस्ट क्रिकेट में इतना अधिक समय मिलता है और मुझे लगता है कि आज (टी20) के जमाने में सब कुछ इतना तेजी से हो रहा है कि हम स्ट्राइक रेट पर बात करते हैं। हमारे खिलाड़ी यह सीख रहे हैं। अगर उन्होंने यह सीख नहीं ली है तो हमारा जैसा प्रदर्शन है आगे भी वैसा ही रहेगा।’’

लैंगर ने पहली पारी में लचर प्रदर्शन के लिये अपने बल्लेबाजों को लताड़ा। ऑस्ट्रेलियाई टीम 151 रन पर आउट हो गयी। ‘‘यह वास्तव में कड़ा टेस्ट मैच था। मैंने पहले दिन से कहा था कि यह टेस्ट सीरीज बेहद कड़ी होने जा रही है और ऐसा हो रहा है। हमें इस टेस्ट मैच में सबसे खराब परिस्थितियों का सामना करना पड़ा और हमारी पहली पारी की बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही। हम निराश और हताश हैं लेकिन चौथे मैच के लिये तरोताजा और तैयार हो रहे हैं।’’

पढ़ें:- सिडनी टेस्ट नहीं खेलेंगे रोहित शर्मा, स्वदेश लौटने की तैयारी

लेग स्पिन ऑलराउंडर मार्नस लबशायन को सिडनी टेस्ट के लिये ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किया गया है। लैंगर ने कहा कि उनके गेंदबाजी आक्रमण को स्वदेश में खेलने का फायदा मिलना चाहिए। ‘‘मुझे वाका में खेलना पसंद है और मुझे एडिलेड ओवल में खेलना पसंद है जिनमें थोड़ी तेजी और उछाल होती है। हम जब भी भारत दौरे पर गये तब हमें उछाल वाले अधिक विकेट नहीं मिले और अमूमन हमें स्पिन पिचों पर खेलना पड़ा। इसलिए हमें भी अपने यहां सर्वश्रेष्ठ विकेट तैयार करने चाहिए।’’

पढ़ें:- ऑस्‍ट्रेलिया के 7 साल के सह-कप्‍तान ने क्‍यूट अंदाज में दी जीत की बधाई 

लैंगर ने कहा, ‘‘देखते हैं कि सिडनी में अगले सप्ताह हमें कैसा विकेट मिलता है। हमें अभी पक्के तौर पर कुछ भी पता नहीं है। भारत ने वहां अभ्यास मैच खेला था और विकेट काफी सपाट था। कुछ सप्ताह पहले शेफील्‍ड शील्ड मैच में भी विकेट सपाट था। हमें उम्मीद है कि टेस्ट के लिये ऐसा नहीं होगा। मेलबर्न में आखिरी दो दिन हम मुकाबले में थे क्योंकि विकेट की प्रकृति बदल गयी थी और सभी अच्छा मुकाबला देखना चाहते हैं।’’