India vs Australia: Knew Indian bowlers would use bouncers, says Will Pucovski
विल पुकोवस्की (Twitter)

भारत के खिलाफ सिडनी टेस्ट में अंतरराष्ट्रीय डेब्यू करने वाले सलामी बल्लेबाज विल पुकोवस्की ने कहा है कि वो शॉर्ट गेंदों से बचने की तैयारी करके आए थे। अपने घरेलू करियर में अब तक कुल 9 बार हेलमेट पर गेंद लगने की वजह से कनकशन का शिकार हुए पुकोवस्की इसी कारण से चार मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले दो टेस्ट में नहीं खेल पाए थे।

हालांकि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में टेस्ट डेब्यू करने उतरे पुकोवस्की ने 62 रन की पारी खेली। पुकोवस्की ने कहा, “मैंने अब तक क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में जितने भी मैच खेले हैं, उनमें मैंने बाउंसर का सामना किया है और कनकशन का इतिहास भी इसी का हिस्सा रहा है। इसलिए मैं जानता था कि भारत इसका (बाउंसर) का इस्तेमाल करेगा।”

पुकोवस्की को पिछले महीने इंडिया-ए के खिलाफ अभ्यास मैच के दौरान तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी की गेंद पर सिर पर लग गई थी और इसके कारण उन्हें शुरुआती दो टेस्ट से दूर रहना पड़ा था। उन्हें 2019 में भी ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम में चुना गया था, लेकिन मानसिक स्वास्थ्य कारणों से उन्हें बाहर होना पड़ा था।

IND vs AUS: अगर स्टीव स्मिथ एक बार सेट हो गए तो फिर उन्हें आउट करना मुश्किल: ग्लेन मैक्ग्रा

ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच एंड्रयू मैक्डॉनल्ड विक्टोरिया के भी कोच हैं और पुकोवस्की विक्टोरिया के लिए भी खेलते हैं। मैक्डॉनल्ड से अपनी बैगी ग्रीन पाने वाले पुकोवस्की कहा कि वार्नर ने उन्हें पहली गेंद का सामना करने का विकल्प दिया था।

पुकोवस्की ने कहा, “डेवी (डेविड वार्नर) ने मुझे पहली गेंद का सामना करने या नहीं करने का विकल्प दिया। मैं इसके बारे में 200 बार सोच सकता था लेकिन आखिरकार मैंने इसे स्वीकार किया और पहली गेंद का सामना किया। मैं अपने अवसर को पाने के लिए उत्साहित था, अपने बैगी ग्रीन को प्राप्त करने के लिए उत्साहित था।”