India vs Australia: M Chinnaswamy pitch expected to be batting friendly, says KSCA official
Jasprit Bumrah, Virat Kohli and Yuzvendra Chahal (File Photo) @ PTI

भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में कम रन बनने के बाद कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) के अधिकारी ने बुधवार को चिन्नास्वामी स्टेडियम में होने वाले दूसरे और अंतिम मुकाबले में ढेरों रन बनने का वादा किया है।

चिन्नास्वामी स्टेडियम की पिच पिछले कुछ वर्षों में धीमी हुई है लेकिन पहले मैच के विपरीत यहां बड़ा स्कोर बनने की उम्मीद है। विशाखापत्तनम में पहले टी20 में ऑस्ट्रेलिया ने मैच की अंतिम गेंद पर 127 रन का लक्ष्य हासिल किया था।

पढे़ें: ‘विस्फोटक बल्लेबाजों के दम पर वेस्टइंडीज के पास विश्व कप जीतने का मौका है’

केएससीए के अधिकारी ने कहा, ‘‘इस पिच पर शायद आईपीएल मैच जितने रन नहीं बने लेकिन इस पर काफी रन बनेंगे। हम ऐसे विकेट का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसका उपयोग दो महीने से अधिक समय से नहीं हुआ है। इसका इस्तेमाल पिछली बार विजय हजारे ट्रॉफी के दौरान हुआ था।’’

साल के इस समय ओस के भी कोई भूमिका निभाने की उम्मीद नहीं है। अधिकारी ने कहा, ‘‘इस सतह पर लगभग 180 का स्कोर प्रतिस्पर्धी होना चाहिए।’’ यहां पर पिछला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच फरवरी 2017 में खेला गया था जिसमें भारत ने छह विकेट पर 202 रन बनाने के बाद इंग्लैंड को 75 रन से हराया था। भारतीय ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या का भी मानना है कि विकेट बल्लेबाजी के अनुकूल होगा।

पढे़ें: दूसरे टी20 मुकाबले के लिए टीम इंडिया में हो सकता है बड़ा बदलाव

मैच से एक दिन पहले विकेट पर कुछ घास है लेकिन पूरी संभावना है कि कल तक इसे हटा दिया जाएगा। क्रुणाल ने कहा, ‘‘मैंने अब तक विकेट नहीं देखा है लेकिन विशाखापत्‍तनम की तुलना में बल्लेबाजी के अधिक अनुकूल होने की उम्मीद है।’’

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस का हालांकि मानना है कि पिछले कुछ वर्षों में पिच की प्रकृति में काफी बदलाव आया है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले कुछ वर्षों में यह अजीब विकेट रहा है। पहली बार मैं सात-आठ साल पहले आईपीएल के दौरान बेंगलुरु आया था। पिछले कुछ वर्षों में विकेट धीमा हुआ है।’’

कमिंस ने कहा, ‘‘वाइजैग में कम स्कोर वाला लेकिन बेहतरीन मैच था। मुझे वहां की पिच पसंद आई। टी20 में आप यार्कर, धीमी गेंद की तैयारी करते हो लेकिन वहां आपको पता था कि अच्छी गेंद काफी अच्छी होने वाली है। गेंद अंत में कुछ स्विंग होती लग रही थी।’’