India vs Australia: Plan to bowl ‘leg-side’ to Australian players was started in July, says Bharat Arun
(Twitter)

भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने बताया के ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के खिलाफ ‘लेग-साइड’ गेंदबाजी करने की योजना पिछले साल जुलाई में ही बननी शुरू हो गई थी।

भारतीय तेज गेंदबाजों के साथ स्पिनरों ने भी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों स्टीव स्मिथ और मार्नुस लाबुशेन के खिलाफ लेग साइड गेंदबाजी करा सफलता हासिल की। भारत ने ब्रिसबेन में खेले गए चौथे टेस्ट में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सीरीज 2-1 से अपने नाम की।

अरूण ने कहा, ‘‘रवि (शास्त्री) ने जुलाई में मुझसे बात की थी और हमने ऑस्ट्रेलिया दौरे को लेकर चर्चा कर रहे थे कि हमें ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को ऑफ साइड (चेहरे के सामने की तरफ) की ओर गेंदबाजी नहीं करनी होगी। हमारे पास अपना विश्लेषण था और हमने महसूस किया कि स्मिथ और लाबुशेन के अलावा अधिकांश ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने ऑफ में कट, पूल लगाकर काफी रन बटोरते हैं।’’

उन्होंने कि टीम ने न्यूजीलैंड के गेंदबाजों खासकर नील वेगनर की गेंदबाजी से भी काफी सबक ली जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड सीरीज के दौरान स्मिथ को परेशान किया था। उन्होंने कहा, ‘‘हमने न्यूजीलैंड की गेंदबाजी से सीख ली। उन्होंने स्टीव स्मिथ को शरीर पर गेंदबाजी की थी और वो बहुत असहज महसूस कर रहे थे।’’

ऑलराउंडर के भूमिका में रवींद्र जडेजा का आगे बढ़ना भारत के लिए बहुत बड़ा बोनस: भरत अरुण

58 साल के कोच ने कहा, ‘‘रवि ने मुझ से कहा कि मैं चाहता हूं कि आप ऐसी योजना बनाए जिससे ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ियों को ऑफ साइड के बाहर मौके ना दिये जाए। उन्होंने कहा कि हम विकेट के सामने सीधी गेंदबाजी करेंगे और लेग साइड में फील्डर लगाएंगे ताकि बल्लेबाज को रन बनाने में मुश्किल हो। इसने हमारे पक्ष में काम किया।’’

अरूण ने कहा कि इस योजना के बारे में कप्तान विराट कोहली को बताया गया। उन्होंने कहा, ‘‘इस बारे में बातचीत जुलाई में ही शुरू हो गयी थी और फिर हमने विराट से चर्चा की। विराट ने एडीलेड में इसकी शुरूआत की और फिर मेलबर्न से रहाणे ने इसे शानदार तरीके से जारी रखा। गेंदबाजों ने अपने काम को बेहतरीन तरीके से किया।’’