India vs Australia: Ravichandran Ashwin’s inclusion for Sydney Test will ease some of the burden on the pacers, says VVS Laxman
Ravichandran Ashwin (File Photo) @ AFP

पूर्व भारतीय बल्‍लेबाज वीवीएस लक्ष्‍मण का मानना है कि सिडनी टेस्‍ट के लिए रविचंद्रन अश्विन को टीम में शामिल करने से तेज गेंदबाजों पर से कुछ दबाव कम हो जाएगा। टाइम्‍स ऑफ इंडिया के अपने कॉलम में लक्ष्‍मण ने लिखे, “जैसा की टिम पेन ने भी कहा है कि सिडनी की पिच पर स्पिनर्स को मदद मिलेगी। मेरी नजर में रोहित शर्मा का टीम में विकल्‍प स्‍पष्‍ट है।”

लक्ष्‍मण ने कहा, तेज गेंदबाजों पर पहले ही काफी दबाव रह चुका है। अश्विन को टीम में शामिल करने से न सिर्फ भारत के स्पिन डिपार्टमेंट को मजबूती मिलेगी बल्कि तेज गेंदबाजों का दबाव भी कम होगा। अश्विन दिखा चुके हैं कि उसके पास विदेशों में अच्‍छी बल्‍लेबाजी करने की भी तकनीक है। मैं उन्‍हें प्‍लेइंग इलेवन में लिए जाने का समर्थन करूंगा।”

पढ़ें:- सिडनी में स्पिनर पर फंसा पेंच, कुलदीप, अश्विन और जडेजा अंतिम 13 में

वीवीएस लक्ष्‍मण ने हनुमा विहारी की भी तारीफ की। उन्‍होंने कहा, “विहारी ने बतौर सलामी बल्‍लेबाज भले ही रन नहीं बनाए हों लेकिन मेलबर्न टेस्‍ट में 66 गेंदों का सामना कर पहले विकेट के लिए 40 रन की पार्टनरशिप बनाकर उन्‍होंने टीम पर से काफी दबाव हल्‍का कर दिया था। उन्‍होंने गेंद को पुराना करने में भूमिका निभाई। जिसकी मदद से बाद में विराट कोहली और चेतेश्‍वर पुजारा ने रन बनाए।”

पढ़ें:- बॉर्डर-गावस्‍कर ट्रॉफी की क्‍लोजिंग सेरेमनी से सुनील गावस्‍कर ने बनाई दूरी

लक्ष्‍मण ने जसप्रीत बुमराह की भी जमकर तारीफ की। बुमराह ने टेस्‍ट क्रिकेट में अपने डेब्‍यू के साल में ही 45 विकेट पूरे किए। ये किसी भी भारतीय गेंदबाज द्वारा डेब्‍यू के साल में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन है। उन्‍होंने कहा, “बुमराह सही दिशा में सटीक गेंदबाजी करते हैं। साल 2018 में भारतीय क्रिकेट को उन्‍हाेंनेे नई उंचाईयों तक पहुंचाया। इशांत शर्मा, मोहम्‍मद शमी, रविंद्र जडेजा ने भी शानदार प्रदर्शन किया।”