India vs Australia: Sourav Ganguly want team india should have shorter quarantine period in Australia
Sourav Ganguly @ Twitter

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) इस साल टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान भारतीय टीम के लिए कम समय का पृथकवास चाहते हैं क्योंकि वे नहीं चाहते कि खिलाड़ी इतनी दूर जाकर दो हफ्ते तक अपने होटल के कमरों में बैठे रहे।

कोविड-19 महामारी के कारण खेल के नियमों में बदलाव हुआ है। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज (England vs West Indies) के बीच मौजूदा टेस्ट श्रृंखला के साथ मार्च के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दोबारा शुरू हुआ है। खिलाड़ियों को दो हफ्ते तक पृथकवास में रहना होता है और खाली स्टेडियम में मैच शुरू होने से पहले उनका कोरोना वायरस परीक्षण किया जाता है।

B’day Special: 1989 का पाक दौरा जब संजय मांजरेकर ने ठोके 98 की औसत से 569 रन, बने टीम के संकट मोचक

गांगुली को हालांकि उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान भारतीय टीम को कुछ छूट मिल सकती है। भारत को इस साल होने वाले इस दौरे पर चार टेस्ट की श्रृंखला खेलनी है जिसमें दिन-रात्रि टेस्ट भी शामिल है।

गांगुली ने इंडिया टुडे के शो ‘इंस्पिरेशन’ पर कहा, ‘‘हमने उस दौरे की पुष्टि कर दी है। दिसंबर में हम जा रहे हैं। हम सिर्फ इतनी उम्मीद कर रहे हैं कि पृथकवास के दिनों में कुछ कमी की जाएगी।’’

पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान को हुआ कोरोना, लखनऊ के अस्‍पताल में भर्ती

‘‘क्योंकि हम नहीं चाहते कि खिलाड़ी इतनी दूर जाएं और दो हफ्ते तक होटल के कमरों में बैठे रहें। यह बेहद अवसादपूर्ण और निराशाजनक होता है और जैसा कि मैंने कहा ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड अच्छी स्थिति में हैं, मेलबर्न को छोड़कर। इसलिए उस नजरिये से हम वहां जा रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि पृथकवास के दिन कम होंगे और हम क्रिकेट में वापसी कर पाएंगे।’’

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के अब तक 9000 से अधिक पुष्ट मामले सामने आए हैं जिसमें से 7500 से अधिक इस बीमारी से उबर चुके हैं। अब तक इस घातक बीमारी से 107 लोगों की मौत हुई है।

गांगुली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के लिए करियर को नई राह देने वाली होगी। ‘‘मुझे नहीं पता कि मैं दिसंबर तक अध्यक्ष पद पर रहूंगा या नहीं। लेकिन कप्तान का यह कार्यकाल मापदंड होगा। यह श्रृंखला मील के पत्थर की तरह होगी।’’