India vs Australia: Steve Smith will prove a headache for India, says Glenn Maxwell
स्टीव स्मिथ (IANS)

ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ग्लैन मैक्सवेल ने कहा है कि स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ भारत के खिलाफ आगामी सीरीज में मेहमान टीम के लिए सिरदर्द साबित होंगे।

इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई पिछली सीमित ओवरों की सीरीज में आस्ट्रेलियाई का मध्य क्रम और निचला क्रम ज्यादा मजबूत नहीं दिखा था। मैक्सवेल ने कहा कि स्मिथ के आने से और स्टोइनिस जिस तरह की फॉर्म में हैं, उससे टीम की बल्लेबाजी मजबूत है।

शुक्रवार को वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दौरान मैक्सवेल ने कहा, “स्मिथ भी पिछली वनडे सीरीज में कन्कशन के कारण बाहर थे। उनका वापसी करना भी हमारी टीम के लिए अच्छा है। वह भारतीय टीम के सिरदर्द हो सकते हैं। उन्होंने भारत के खिलाफ काफी सारे रन किए हैं इसलिए उनका टीम में आना अच्छा होगा।”

मैक्सवेल ने साथ ही आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले मार्कस स्टोइनिस की भी तारीफ की है। उन्होंने कहा, “स्टोइनिस की फॉर्म इस समय शानदार है। अगर उन्हें मौका मिलता है तो वो अच्छा करेंगे। उन्होंने दिल्ली के लिए खेलते हुए आईपीएल में अच्छा किया है। वो गेंद को अच्छे से हिट कर रहा था।”

‘इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में BLM के समर्थन में घुटने नहीं टेकेंगे दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी’

आईपीएल के 13वें सीजन में मैक्सवेल का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था। क्या आईपीएल के फॉर्म का भारत के खिलाफ सीरीज में असर पड़ेगा? इस सवाल पर मैक्सवेल ने हंसते हुए कहा, “आईपीएल के प्रदर्शन का आने वाली सीरीज में मेरे प्रदर्शन पर असर नहीं पड़ेगा।”

मैक्सवेल भारत के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने को लेकर आत्मविश्वास से भरे हुए दिखे। उन्होंने कहा, “मैं अपने आप को इस टीम में एक ऑलराउंडर खिलाड़ी की तरह देखता हूं। मेरे अलावा स्टोइनिस एक और ऑलराउंडर खिलाड़ी होंगे जो फ्रंटलाइन गेंदबाजों के साथ मिलकर काम करेंगे। उम्मीद है कि मुझे अगर गेंदबाजी का मौका मिलता है तो मैं अपना योगदान दे सकूंगा और कोशिश करूंगा कि बल्ले से निचले क्रम में मैंच खत्म कर सकूं।”

ऑस्ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्लैन मैक्ग्राथ ने हाल ही में कहा था कि ऑस्ट्रेलियाई पिचों में अब पहले जैसी बात नहीं रही।इस पर मैक्सवेल ने कहा, “मैं काफी लंबे समय से आस्ट्रेलियाई पिचों पर नहीं खेला हूं। इसलिए मैं शायद इसका जवाब देने के लिए सही इंसान नहीं हूं, लेकिन मुझे लगता है कि यहां की पिचों में आज भी अच्छी खासी उछाल और तेजी है। मुझे अभी भी लगता है कि यहां की पिचों में अभी भी बल्लेबाजों को डराने वाली बात तो है।”

दर्शकों से बीच होगी भारत-ऑस्ट्रेलिया वनडे-टी20 सीरीज; बिके सारे टिकट

मैक्सवेल यूएई में आईपीएल खेल कर लौटे हैं। यूएई की पिचें धीमी थी वहीं ऑस्ट्रेलिया की पिचें तेज और उछाल वाली हैं। मैक्सवेल के मुताबिक बल्लेबाजों को यूएई से आने के बाद ऑस्ट्रेलिया की पिचों के साथ सामंजस्य बिठाने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

दाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने कहा, “मुझे लगता है कि यहां कि पिचें ईवन हैं। आप एक-दो गेंद खेलेंगे तो समझ जाएंगे। दुबई की पिचें टू-पेस थीं। हमें विकेट को समझने के लिए ज्यादा समय बिताना पड़ता था। भारत में पिचें धीमी होती हैं और आप जानते हैं कि ये और धीमी होंगी। मुझे नहीं लगता कि बल्लेबाजों को यहां की पिचों से सामंजस्य बिठाने में परेशानी होगी।”