india vs australia sydney test claire polosak will become first woman umpire in men s test
क्लेयर पोलोसाक @Twitter

गुरुवार को जब भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) की टीमें सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) के मैदान पर तीसरे टेस्ट के लिए आमने-सामने होंगी, तो यहां एक नया इतिहास भी दर्ज होगा. इस टेस्ट मैच में एक महिला क्लेयर पोलोसाक (Claire Polosak) अंपायर की भूमिका में नजर आएंगी. यह पहला मौका होगा, जब पुरुषों को किसी टेस्ट मैच में कोई महिला मैच अधिकारी अंपायरिंग की भूमिका निभाएंगी.

न्यू साउथ वेल्स की 32 वर्षीय इस महिला अंपायर ने इससे पहले साल 2019 में नामीबिया और ओमान के बीच वर्ल्ड क्रिकेट लीग डिवीजन 2 के मैच में अंपायरिंग की थी, तब उन्होंने पुरुष वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग कर पुरुष वनडे मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला होने का गौरव हासिल किया था.

हालांकि पोलोसाक गिने-चुने मौकों पर ही मैदान पर दिखाई देंगी क्योंकि उन्हें सिडनी टेस्ट के लिए चौथे अंपायर की भूमिका दी गई है. 4 मैचों की इस बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तीसरे मैच में दो पूर्व तेज गेंदबाज पॉल रिफेल (Paul Reiffel) और पॉल विल्सन (Paul Wilson) पहले और दूसरे अंपायर की भूमिका में होंगे, जबकि ब्रूस ऑक्सेनफोर्ड तीसरे यानी टेलीविजन अंपायर होंगे. डेविड बून यहां मैच रेफरी की भूमिका निभाएंगे.

आईसीसी के नियमों के अनुसार, टेस्ट क्रिकेट में चौथे अंपायर को घरेलू क्रिकेट बोर्ड द्वारा अपने आईसीसी अंपायरों के अंतरराष्ट्रीय पैनल में से नियुक्त किया जाता है. पोलोसाक इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया में 2017 में पुरुषों के घरेलू लिस्ट A मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला हैं.

चौथे अंपायर का काम मैदान में नई गेंद लाना, अंपायरों के लिए ड्रिंक ले जाना, लंच और चाय के दौरान पिच की देखभाल और लाईटमीटर से रोशनी की जांच करने जैसी चीजें शामिल हैं. किसी परिस्थिति में मैदानी अंपायर के हटने के बाद तीसरे अंपायर को मैदान पर उतरना होता है, जबकि चौथे अंपायर को टेलीविजन अंपायर की भूमिका निभानी होती है.

इनपुट: भाषा