India vs Australia Test Series: Jasprit Bumrah will be key for India in retaining Test series; Says Allan Border
Jasprit Bumrah with Virat Kohli @bcci (file image)

India vs Australia Test Series: भारतीय क्रिकेट टीम और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच 17 दिसंबर से एडिलेड में खेला जाएगा। टेस्ट सीरीज को लेकर दोनों टीमें इस समय जमकर पसीना बहा रही हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलन बॉर्डर का मानना है कि इस सीरीज में अगर भारत जीत दर्ज करता है तो इसमें पूरी तरह से फिट तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की भूमिका अहम होगी।

खुद को बुमराह का बड़ा प्रशंसक बताते हुए बॉर्डर ने कहा कि भारतीय तेज गेंदबाजी के अगुआ में दोनों टीमों के बीच अंतर पैदा करने की क्षमता है। बॉर्डर ने कहा, ‘मैं बुमराह का बड़ा प्रशंसक हूं। अगर वह खुद को फिट रखता है। हम उस खिलाड़ी के बारे में बात कर रहे हैं जो आपके लिए मैच जीत सकता है। मैं उसको लेकर थोड़ा चिंतित हूं क्योंकि हमारी पिचों पर थोड़ी उछाल और मूवमेंट मिलता है।’

उन्होंने सोनी नेटवर्क पर एक कार्यक्रम में कहा, ‘भारत की जीत के लिए, मुझे बुमराह की चिंता है। अगर वह पिछली बार की तरह गेंदबाजी करता है, महत्वपूर्ण विकेट हासिल करता है तो मेरा मानना है कि वह वास्तविक अंतर पैदा कर सकता है।’

जानें कब,कहां देखें ग्लेडिएटर्स vs स्टालियंस के बीच LPL 2020 फाइनल की लाइव स्ट्रीमिंग और Telecast

बुमराह ने 2018-19 में चार मैचों में 21 विकेट लिए थे। उन्होंने भारत की ऑस्ट्रेलियाई धरती पर पहली टेस्ट श्रृंखला में जीत में अहम भूमिका निभाई थी। बॉर्डर ने कहा, ‘आप हमेशा यह सोचते हो कि आपके बल्लेबाज पर्याप्त रन बनाए लेकिन आपको टेस्ट मैच जीतने के लिये 20 विकेट की जरूरत होती है। अगर वह फिट रहता है तो वह काफी अहम साबित होगा।’

उन्होंने कहा, ‘वह (बुमराह) बेहद घातक गेंदबाज है। वह क्रिकेट का पूरा लुत्फ उठाता है। हमेशा उसके चेहरे पर मुस्कान होती है। जब वह लय में होता है तो फिर उसे खेलना बहुत मुश्किल होता है। ’

Steve Smith Injury Update: कमर में सूजन के चलते स्मिथ ने नहीं किया अभ्‍यास, क्‍या खेल पाएंगे पहला टेस्ट ?

बॉर्डर का इसके साथ ही मानना है कि भारत को पहले टेस्ट मैच के बाद विराट कोहली की कमी खलेगी जो पितृत्व अवकाश पर स्वदेश लौट जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं इससे सहमत हूं कि उसके (कोहली) के जाने के बाद भारत की बल्लेबाजी में बड़ा अंतर पैदा होगा। केवल मैदान पर उसकी उपस्थिति से ही अंतर पैदा होता है। मुझे लगता है कि आस्ट्रेलियाई इससे खुश होंगे कि उन्हें तीन टेस्ट मैचों में उसे गेंदबाजी नहीं करनी होगी।’