ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने डीआरएस पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये काफी अच्‍छी प्रणाली नहीं है। इससे जुड़ा उनका अनुभव बेहद निराशाजनक रहा है। ऑस्ट्रेलिया को भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में 31 रन से हार का सामना करना पड़ा। डीआरएस की वजह से कई फैसले भारत के पक्ष में चले गए थे।

पढ़े – पहले से पता था कि ऑस्ट्रेलियाई पिचों से क्या उम्मीद करनी है

अंपायर निजेल लांग ने रविवार को अजिंक्य रहाणे को तब कैच आउट दे दिया था जब वह 17 रन पर खेल रहे थे लेकिन रीप्ले से पता चला कि गेंद बल्लेबाज के आगे वाले पैड पर लगी थी और उसने बल्ले या दस्ताने को स्पर्श नहीं किया था। अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा था।

पढ़े – एडिलेड में पंत ने की कमिंस की स्लेजिंग, वायरल हुआ वीडियो 

इसी तरह से चेतेश्वर पुजारा को दूसरी पारी में आठ और 17 रन के निजी योग पर आउट दे दिया गया था लेकिन दोनों अवसरों पर डीआरएस लेने पर अंपायर ने अपना फैसला बदल दिया था। रीप्ले से पता चला कि पहले अवसर पर गेंद बल्ले या दस्ताने के संपर्क में नहीं आयी थी जबकि दूसरे मौके पर गेंद विकेटों के ऊपर से निकल रही थी।

सिडनी मार्निंग हेरल्ड के अनुसार पेन ने कहा, ‘‘डीआरएस अच्‍छी प्रणाली नहीं है। यह निराशाजनक है। मुझे लगता है कि यह सभी के लिये निराशाजनक है। लेकिन अब जो है वह है।’’

(एजेंसी इनपुट के साथ)