टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक ओपनिंग बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे पिंक बॉल टेस्ट में भारतीय टीम की शानदार बॉलिंग की तारीफ की है. भारतीय टीम की शानदार बॉलिंग देखकर उन्हें अपने दौर का साल 2003 का एडिलेड टेस्ट भी याद आ गया है. इसी मैदान पर टीम इंडिया ने आज से 17 साल पहले शानदार बॉलिंग के दम पर कंगारू टीम को मात दी थी. शुक्रवार को जैसे ही मेजबान ऑस्ट्रेलिया की पारी 191 रनों पर सिमट गई, तो सहवाग ने टीम इंडिया की तारीफ के साथ-साथ उस मैच को भी याद किया.

अपनी शानदार बॉलिंग से पहले भारतीय टीम इस मैच में बैकफुट पर दिखाई दे रही थी. उसकी पहली पारी मात्र 244 रन पर जो सिमट गई थी. लेकिन टीम इंडिया ने अपनी बैटिंग में बाकी रह गई कसर को (Ravichandran Ashwin) रविचंद्रन अश्विन (4/55), (Jasprit Bumrah) जसप्रीत बुमराह (2/52) और (Umesh yadav) उमेश यादव (3/40) की बेहतरीन बॉलिंग के दम पर पूरा किया.

https://twitter.com/virendersehwag/status/1339898154578190336?s=20

भारत ने कंगारू टीम को मात्र 191 रन पर ऑलआउट कर पहली पारी के आधार पर 53 रन की बढ़त ली. इस शानदार बॉलिंग ने सहवाग को इसी मैदान पर खेले गए 17 साल पुराने टेस्ट मैच की याद आ गई. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘एडिलेड और ऑस्ट्रेलिया 191 पर ऑल आउट ने 2003 की याद दिला दी. वैसे वह दूसरी पारी में हुआ था. बॉलिंग मस्त की अपन लोगों ने.’

https://twitter.com/virendersehwag/status/1339889152725118977?s=20

इसके अलावा उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘डे-नाइट टेस्ट देखने में फील है. 53 की लीड महत्वपूर्ण है. भारत के द्वारा शानदार बॉलिंग प्रदर्शन, अब यह देखना है कि वह बिना कोई विकेट गंवाए दिन का अंत करे. आउट मत होइयो.’ हालांकि सहवाग की यह आस पूरी नहीं हो सकी और पृथ्वी शॉ (4) पैट कमिंस का शिकार बने. इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 1 विकेट गंवाकर 9 रन जोड़ लिए थे. मयंक अग्रवाल (5*) के साथ जसप्रीत बुमराह (0*) क्रीज पर थे.

बता दें टीम इंडिया साल 2003 में एडिलेड के इसी मैदान पर खेले गए टेस्ट मैच में कंगारू टीम को दूसरी पारी में मात्र 196 रन पर समेट दिया था. इस मैच में अजीत आगरकर ने 41 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किए थे. भारत को मैच की चौथी पारी में 229 रन का लक्ष्य मिला था, जिसे टीम इंडिया ने शानदार ढंग से 4 विकेट से जीत दर्ज की थी.

यह सहवाग का पहला ऑस्ट्रेलिया दौरा था. इस मैच में उन्होंने दोनों पारियों में 47-47 रन का योगदान दिया था. इसके अलावा पूरे मैच की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 556 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था. लेकिन भारत ने भी राहुल द्रविड़ के 233 रनों की बदौलत अपनी पहली पारी में 523 रन जोड़े. भारत पहली पारी में कंगारुओं से 33 रन पीछे था लेकिन मेजबान टीम को उसने दूसरी पारी में 196 रन पर समेट कर मैच में अपनी पकड़ बनाई और राहुल द्रविड़ ने एक बार फिर नाबाद 72 रन की पारी खेलकर उसे हरा दिया.ि