गौतम गंभीर © IANS
गौतम गंभीर © IANS

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने ऑस्ट्रेलिया की तारीफ की है। गंभीर का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम को श्रेय दिया जाना चाहिए, भारत आने से पहले क्रिकेट विशेषज्ञों ने कहा था कि ऑस्ट्रेलिया को भारत एकतरफा अंदाज में हरा देगा। विदेशों में ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी छह टेस्ट मैचों में से पांच हारे थे। जिसमें उन्हें दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था। भारत आने से पहले हर किसी ने कहा था कि 19 मैचों से अजेय चल रही भारतीय टीम के सामने ऑस्ट्रेलिया कहीं भी नहीं टिक सकेगा। भारत के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने तो कह दिया था कि भारत ऑस्ट्रेलिया का सूपड़ा साफ कर देगा। लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने दौरे पर भारत को कड़ी टक्कर दी और पहले ही मैच को अपने नाम कर लिया। हालांकि दूसरे टेस्ट में उन्हें हार मिली, लेकिन दूसरे टेस्ट में भी ज्यादातर समय वो मैच में हावी थे। ये भी पढ़ें: रविंद्र जडेजा ने बतौर खिलाड़ी खुद को विकसित किया है: बिशन सिंह बेदी

गंभीर ने कहा, ”हमें ऑस्ट्रेलिया को श्रेय देना होगा, उन्होंने बेहतरीन क्रिकेट खेली। सौरव गांगुली, हरभजन सिंह समेत कई दिग्गजों ने सूपड़ा साफ होने की बात की थी। लेकिन उन्होंने खुद को साबित किया और नतीजा हम सबके सामने है। ऑस्ट्रेलिया ने बताया कि वह क्यों खतरनाक विपक्षी टीम है।” सीरीज में दोनों देशों के बीच गहमा गहमी भी देखने को मिली है। दूसरे टेस्ट मैच में स्टीवन स्मिथ द्वारा डीआरएस के लिए ड्रेसिंग रूम से पूछने के बाद विवाद की शुरुआत हुई थी। जो तीसरे टेस्ट तक जारी रहा। खिलाड़ियों के बीच भी जमकर कहासुनी हुई और नौबत यहां तक आ गई कि कई बार अंपायर को मामले पर हस्ताक्षेप करना पड़ा। इस पर 58 टेस्ट खेल चुके गंभीर ने कहा, ”छींटाकशी खेल का हिस्सा होता है और आप इस पर रोक नहीं लगा सकते। ये सही है कि आप कठोर खेलें और वो सब करें, जिससे की आपका विरोधी घुटने टेकने पर मजबूर हो जाए। ये जो खेल रहे हैं वो रोबोट नहीं हैं और जब आप अपने देश के लिए खेल रहे होते हैं तो आपके ऊपर जिम्मेदारी और बढ़ जाती है, जिससे आप अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाते।” आपको बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट मैच 25 मार्च से धर्मशाला में खेला जाएगा।