India vs Bangladesh, 3rd T20I: I just reminded them what we are playing for, says Rohit Sharma
रोहित शर्मा (IANS)

नागपुर में बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए तीसरे और आखिरी टी20 मैच में टीम इंडिया ने 30 रन से जीत हासिल की। भारतीय टीम की इस जीत में प्रमुख योगदान गेंदबाजों का रहा, खासकर कि दीपक चाहर और ऑलराउंडर शिवम दुबे का। 175 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम उस समय पर बैकफुट पर थी, जब बांग्लादेश के दो सेट बल्लेबाज मोहम्मद मिथुन और मोहम्मद नईम क्रीज पर थे।

इस दौरान खराब गेंदबाजी के साथ फील्डिंग में भी लापरवाही हुई। जिसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने खिलाड़ियों को टीम हडल में बुलाया और उनसे कुछ कहा, जिसके बाद खिलाड़ियों के प्रदर्शन में आश्चर्यजनक सुधार आया। इस हडल के बाद दुबे, जिन्हें की काफी रन पड़ चुके थे, उन्होंने मुश्फिकुर रहीम और फिर अर्धशतक जड़ चुके नईम के अहम विकेट निकाले और भारत ने मैच में शानदार वापसी की।

मैच के बाद जब रोहित से पूछा गया कि इस टीम हडल के दौरान क्या बात हुई तो उन्होंने कहा, “मैंने उन्हें केवल ये याद दिलाया (अपनी जर्सी पर लगे बैज की तरफ इशारा करते हुए) कि हम इसके लिए खेल रहे हैं। मैं समझ सकता हूं कि विकेट नहीं गिर रहे, खुद को फिर से उठाना मुश्किल है। मुझे केवल उन्हें याद दिलाना था कि हम किसके लिए खेल रहे हैं, श्रेय गेंदबाजों को जाता है।”

राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में भारतीय खिलाड़ियों ने गुलाबी गेंद से अभ्यास शुरू किया

रोहित ने कहा, “गेंदबाजों ने हमे मैच जिताया। ओस को देखते हुए, मुझे पता है कि कितनी मुश्किल हो रही थी। एक समय पर जब उन्हें (बांग्लादेश को) 8 ओवर में कुछ 70 रन चाहिए थे तो हमारे लिए हालात कठिन थे। हमने शानदार कमबैक किया।”

गेंदबाजों के शानदार प्रयास से पहले श्रेयस अय्यर और केएल राहुल की अर्धशतकीय पारियों ने मुश्किल में फंसी टीम इंडिया को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाकर लड़ाई का मौका दिया था। इन बल्लेबाजों के बारे में रोहित ने कहा, “जिस तरह से राहुल और अय्यर खेले, वो कमाल था। हम टीम से यही चाहते हैं- कि खिलाड़ी जिम्मेदारी उठाएं।”

रोहित ने आगे कहा, “जब तक हम विश्व कप के करीब पहुंचें, हमें टीम का सही संतुलन ढूंढना होगा। कुछ खिलाड़ी यहां नहीं हैं लेकिन वो वापस आएंगे। इन सब चीजों को ध्यान में रखते हुए, ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले हमारे सामने कुछ और मैच हैं। अगर हम इसी तरह से प्रदर्शन करते रहे, जैसे हमने आज किया तो विराट (कोहली) और चयनकर्ताओं का सिरदर्द बढ़ गया।”