भारतीय टीम © Getty Images
भारतीय टीम © Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज खत्म हो चुकी है और बारी है सीमित ओवरों के रोमांच में डूबने की। भारत और इंग्लैंक के बीच 15 जनवरी से तीन मैचों की वनडे सीरीज की शुरुआत होगी और इसके तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जाएगी। लेकिन कानपुर में होने वाले पहले ही टी20 मैच में संकट के बादल छाने लगे हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टी20 मैच 26 जनवरी को कानपुर में खेला जाना है। लेकिन खराब रौशनी के कारण मैच खटास में पड़ता नजर आ रहा है।

दरअसल, मैदान में लक्स लेवल (लाइट को मापने का यंत्र) भारत और इंग्लैंड के बीच टी20 मैच में खलल पैदा कर सकता है। हालांकि वीवीआईपी पवेलियन के पास 45 अतिरिक्त बल्ब लगाए गए हैं। लेकिन मैदान में कम से कम 5500 लक्स की जरूरत होती है, जबकि इस मैदान में सिर्फ 2000 लक्स ही हैं। 22 टेस्ट और 14 वनडे मैचों का आयोजन कर चुके ग्रीनपार्क स्टेडियम में यह पहला टी20 मैच होगा। इससे पहले यूपी क्रिकेट एसोसिएशन ने इस मैदान पर दो आईपीएल के मैच आयोजित कराए थे, आईपीएल मैचों के दौरान खिलाड़ियों को खराब रौशनी का सामना करना पड़ा था खासकर फील्डिंग के दौरान। मैच के बाद एक खिलाड़ी ने कहा भी था कि मैदान में लाईटों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है। ये भी पढ़ें: साल 2016 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी

कानपुर के ग्रीनपार्क में साल 2002 में फ्लडलाइट्स लगाई गईं थीं, जिसका खर्च 5.54 करोड़ रुपये आया था। लेकिन तकनीकी खराबी के कारण इस मैदान पर कभी डे-नाइट मैच आयोजित नहीं कराया जा सका। वनडे सीरीज के बाद पहला टी20 मैच 26 जनवरी को ग्रीपार्क में खेला जाना है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज पहले ही भारत जीत चुका है और ऐसे में इंग्लैंड की टीम वनडे और टी20 सीरीज को जीतकर टेस्ट में मिली हार का बदला लेना चाहेगी।