India vs England, 1st Test: ‘It doesn’t happen very often at my age’, James Anderson was happy to see stumps flying at Chepauk
शुबमन गिल, अजिंक्य रहाणे (Twitter)

इंग्लैंड टीम ने चेन्नई में खेले गए टेस्ट मैच में भारत के खिलाफ 227 रनों से जीत दर्ज कर चार मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल की। हालांकि मैन ऑफ द मैच का अवार्ड कप्तान जो रूट को मिला लेकिन मैच के आखिरी दिन 420 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को 192 के स्कोर पर आउट करने में मुख्य भूमिका सीनियर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की रही।

मैच के आखिरी दिन जब युवा सलामी बल्लेबाज शुबमन गिल और चेतेश्वर पुजारा भारतीय टीम की पारी संभाल रहे थे तब रूट दिन के 14वें ओवर में एंडरसन को अटैक में लाए और उन्होंने आते ही दो बड़े विकेट हासिल किए।

एंडरसन ने ओवर की दूसरी गेंद पर अर्धशतक बना चुके गिल का ऑफ स्टंप उड़ाया और फिर पांचवीं गेंद पर उप कप्तान अजिंक्य रहाणे को भी इसी तरीके से आउट किया। इस एक ओवर ने खेल का रुख पलट दिया।

हालांकि एंडरसन को इस तरह से विकेट लेने की उम्मीद नहीं थी। मैच के बाद उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो मैं एलबीडब्ल्यू या फिर मिड विकेट पर कैच की उम्मीद कर रहा था लेकिन स्टंप्स उड़ते देखना हमेशा ही मजेदार होता है। मेरी उम्र में ऐसा अक्सर नहीं होता है इसलिए मैं बेहद खुश हूं कि आज ऐसा हुआ।”

WATCH: एक ओवर में 2 विकेट लेकर कैसे जेम्स एंडरसन ने पलटा मैच का रुख

38 साल के तेज गेंदबाज एंडरसन ने कहा, ‘‘गेंद अच्छी तरह से रिवर्स स्विंग हो रही थी। हमें पता था कि हमें सही लेंथ पर गेंदबाजी करनी होगी और मैं ऐसा करने में सफल रहा। यहां उछाल को लेकर मैं थोड़ा भाग्यशाली रहा। रिवर्स स्विंग हमारे लिए शानदार रही। बेशक पिच धीमी थी और टूट रही थी इसलिए हवा में मिल रही मूवमेंट से हम तेज गेंदबाजों को लग रहा था कि हम किसी भी गेंद पर विकेट हासिल कर सकते हैं।’’

मैच में 63 रन देकर पांच विकेट चटकाने वाले 38 साल के एंडरसन ने कहा कि पांच दिन तक कड़ी मेहनत करनी पड़ी लेकिन टेस्ट में जीत के साथ चार मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाने की उन्हें खुशी है। अपने करियर में 611 विकेट चटकाने वाले एंडरसन ने कहा, ‘‘पांच दिन तक कड़ी मेहनत करनी पड़ी। मैं शानदार महसूस कर रहा हूं। श्रीलंका का दौरा अच्छा रहा और मैं उस फॉर्म को यहां भी बरकरार रखने में सफल रहा।’’