India vs England, 1st Test: Mohammed Siraj will give tough fight to Ishant Sharma in playing 11 fight
Ishant Sharma @ Twitter

India vs England, 1st Test: कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट की अंतिम एकादश का चयन करते हुए भारत के पास अधिक विकल्प नहीं होंगे लेकिन दूसरे तेज गेंदबाज के स्थान के लिए अनुभवी इशांत शर्मा (Ishant Sharma) को युवा मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) से कड़ी टक्कर मिलेगी।

भारत ने मंगलवार को अपने तीन में से पहले अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया और आम तौर पर स्पिनरों के मददगार रहने वाले चेपक के पारंपरिक विकेट को देखते हुए भारत पांच से नौ फरवरी तक होने वाले पहले टेस्ट में दो तेज गेंदबाजों और तीन स्पिनरों के साथ उतर सकता है।

ICC Test Championship, Final Scenario: ऑस्‍ट्रेलिया के बाद भारत भी हो सकता है बाहर, ENG को करना होगा ये काम

बीसीसीआई के एक सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘‘यह चेपक की पारंपरिक पिच की तरह है। इसमें इंग्लैंड जैसी विकेटों की झलक नहीं होगी। इस उमस भरे मौसम में आपको विकेट पर घास की जरूरत होती है जिससे कि यह आसानी से नहीं टूटे। इस विकेट से स्पिनरों को मदद मिलेगी जैसा कि हमेशा होता है।’’

सभी की नजरें मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरूण और कप्तान विराट कोहली की तिकड़ी पर टिकी होगी कि वह तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआई जसप्रीत बुमराह के जोड़ीदार के रूप में किसे चुनते हैं।

पठान ने की इस स्पिन गेंदबाज को खिलाने की वकालत, बोले- हर दिन यूं बाएं हाथ के गेंदबाज नहीं मिलेंगे

इशांत ने पिछले लगभग एक साल से लाल गेंद का क्रिकेट नहीं खेला है जबकि सिराज आस्ट्रेलिया दौरे पर शानदार फॉर्म में थे जहां उन्होंने ब्रिसबेन में एक पारी में पांच विकेट सहित तीन टेस्ट में कुल 13 विकेट चटकाए।

इशांत ने हाल में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी की है जहां उन्होंने चार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी मैचों में कुल 14.1 ओवर गेंदबाजी की।

उम्मीद है कि गेंदबाजी कोच अरूण अगले दो दिन में इशांत और सिराज को लेकर फैसला करेंगे।

दूसरा फैसला थोड़ा और मुश्किल हो सकता है जहां फॉर्म में चल रहे वाशिंगटन सुंदर और बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल में से एक को सीनियर आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और बायें हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव का साथ देने के लिए चुना जा सकता है।

वाशिंगटन ने ब्रिसबेन में पदार्पण करते हुए अर्धशतक जड़ा और चार विकेट चटकाए लेकिन उनकी मौजूदगी से टीम में दो एक जैसे स्पिनर होंगे लेकिन उनके अनुभव में काफी अंतर होगा।

अक्षर भी बल्लेबाजी में अपना दम दिखा सकते हैं जबकि वह रविंद्र जडेजा के समान विकल्प भी होंगे।

इस बीच आलराउंडर हार्दिक पंड्या का पृथकवास बुधवार सुबह खत्म होगा और वह टीम के साथ ट्रेनिंग के लिए जुड़ेंगे। लंबे समय बाद टेस्ट टीम का हिस्सा बने पंड्या निजी काम के कारण एक दिन देर से टीम से जुड़े थे।

पंड्या को भले ही पहले मैच में खेलने का मौका नहीं मिले लेकिन विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल और इंग्लैंड में पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला को देखते हुए उनके गेंदबाजी का बोझ बढ़ने की उम्मीद है।