चेन्नई टेस्ट में इंग्लैंड के बनाए 578 रनों के विशाल स्कोर के जवाब में भारतीय टीम ने चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) और रिषभ पंत (Rishabh Pant) की शतकीय साझेदारी के दम पर तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 257/8 रनों का स्कोर खड़ा किया। दिन का खेल खत्म होने तक वाशिंगटन सुंदर और रविचंद्रन अश्विन क्रीज पर बरकरार हैं और टीम इंडिया 321 रनों से पीछे है।

पुजारा ने 143 गेंदो पर 11 चौकों की मदद से 73 रनों की साझेदारी खेली। पंत ने 88 गेंदो पर नौ चौकों और पांच छक्कों की मदद से 91 रनों की पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर पांचवें विकेट के लिए 119 रन जोड़े। पुजारा के टेस्ट करियर का ये 29वां अर्धशतक है। वहीं, पंत ने अपने टेस्ट करियर का अब तक का ये पांचवां और लगातार तीसरा अर्धशतक जमाया।

दिन की शुरुआत में इंग्लैंड की पारी समेट के बाद बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने लंच से पहले रोहित शर्मा (6) और शुबमन गिल (29) का विकेट गंवाया। मेजबान टीम ने लंच के बाद दो विकेट पर 59 रन से आगे खेलना शुरू किया। पुजारा ने 20 रन और कप्तान विराट कोहली ने अपनी पारी को चार रन से आगे बढ़ाया।

लंच के बाद कोहली कुछ खास नहीं कर सके और अपने स्कोर में सात रन का और इजाफा करने के बाद 11 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। उन्होंने 48 गेंदों का सामना किया। कोहली को डॉम बैस ने ओली पोप के हाथों कैच कराया। कोहली और पुजारा के बीच तीसरे विकेट के लिए 27 रनों की ही साझेदारी हो पाई।

कोहली के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए अजिंक्य रहाणे भी मात्र एक रन बनाकर चलते बने। बैस ने रहाणे को भी अपना शिकार बनाया और उन्हें कप्तान जोए रूट हाथों शानदार कैच कराके पवेलियन भेजा। इसके बाद हालांकि पंत और पुजारा ने टी तक मेजबान टीम को और कोई नुकसान नहीं होने दिया।

पंत और पुजारा की साझेदारी की मदद से भारतीय टीम ने 200 रनों का आंकड़ा पार किया। दोनों सेट बल्लेबाज इंग्लिश स्पिनर बेस का शिकार बने। जिसके बाद वाशिंगटन सुंदर की 33 रनों की नाबाद पारी की मदद से टीम इंडिया ने स्टंप तक 257/6 का स्कोर बनाया।