India vs England, 2nd Test: We never complain when we get green tops overseas, need to change mindset, says Akshar Patel
चेपॉक स्टेडियम (BCCI)

पूर्व कप्तान माइकन वॉन ने भारत-इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के दौरान चेपॉक की पिच को ‘कम तैयार’ करार दिया था। जिसके लिए सुनील गावस्कर समेत कई पूर्व भारतीय दिग्गजों ने उनकी आलोचना की है। और अब चेन्नई टेस्ट में डेब्यू करने वाले भारतीय ऑलराउंडर अक्षर पटेल ने वॉन के जवाब में कहा है कि जब विदेशों में हमें घसियाली पिच पर खेलना होता है तो हम कभी भी इसका शिकायत नहीं करते है और ऐसे में मानसिकता में बदलाव करने की जरूरत है।

अक्षर ने कहा, ‘‘अगर आप पिच के बारे में बात कर रहे हैं, तो मुझे नहीं लगता कि कोई भी गेंद हेलमेट से टकराई है। गेंद सामान्य तरीके से स्पिन हो रही है। हम (दोनों टीमें) एक ही पिच पर खेल रहे हैं और रन बना रहे हैं, इसलिए मुझे नहीं लगता कि किसी को भी कोई समस्या होनी चाहिए।’’

27 साल के बाएं हाथ के इस स्पिनर ने चेपॉक मैदान की पिच को खराब बताने पर इंग्लैंड की मीडिया और कमेंटेटरों पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा, ‘‘जब हम विदेश जाते हैं, तो हमने कभी भी तेज गेंदबाजों की मददगार पिच पर खेलते हुए ऐसी शिकायत नहीं की, कि पिच पर घास अधिक है। मुझे लगता है कि लोगों को विकेट के बारे में सोचने के बजाय अपनी मानसिकता को बदलना होगा।’’

शेन वॉर्न के वीडियो देखकर सीखी बॉलिंग, नागालैंड के इस बॉलर की अब IPL पर नजरें

अक्षर ने कहा कि इस पिच पर सफलता के लिए गेंद को पिच पर जोर से टप्पा खिलाना होगा। उन्होंने कहा, ‘‘इस पिच से स्पिनरों को मदद मिल रही है, ऐसे में आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है। जब आप गेंद को पिच पर थोड़ा जो लगाकर टप्पा दिलाते है तभी आपको टर्न मिलता है।

अक्षर से जब पूछा गया कि क्या भारतीय टीम की बल्लेबाजी पिच की आलोचना करने वालों को जवाब है?, तो उन्होंने कहा, ‘‘जब हम खेलते हैं, तो बाहरी दुनिया पर ज्यादा ध्यान नहीं होता है। हम एक संदेश देना चाहते हैं। हमने सामान्य क्रिकेट खेला। अगर यह चौथा दिन होता, तो हम पारी घोषित करने के बारे में सोचते लेकिन यह तीसरा दिन था और हमारे पास पर्याप्त समय था। हमें लगा कि देर तक बल्लेबाजी करनी चाहिए।’’