युवराज सिंह और एमएस धोनी © AFP
युवराज सिंह और एमएस धोनी © AFP

कोलकाता। 20 जनवरी को कोलकाता में तीसरे वनडे खेलने के लिए टीम इंडिया शहर पहुंच गई। लेकिन एयरपोर्ट से होटल पहुंचने के दौरान जाम होने के कारण टीम इंडिया को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। दरअसल, बंगाल ग्लोबल समिट के आयोजन के चलते पूर्वी मेट्रोपोलिटियन बायपास काफी दिनों तक जाम रहा। दोनों ही टीमें कोलकाता के बंगाल होटल में ठहर रही हैं। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ तीसरा वनडे रविवार को ईडेन गार्डन में खेलेगी। विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया पहले से ही तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ले चुकी है।

वहीं टीम इंडिया के लिए अच्छी खबर ये है कि ईडेन गार्डन के मैदान पर ज्यादा घास नहीं होगी जिससे कि बल्लेबाजों को मदद मिलने की संभावनाएं हैं। इस तरह एक बार फिर से रनों का अंबार देखने को मिल सकता है। यह पता चला है कि क्रिकेट असोसिएशन ऑफ बंगाल के प्रेसीडेंट और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने सुजन मुखर्जी से पिच पर उगी हुई घास को साफ करने को कहा था। टीम के कोलकाता में आने के कुछ देर बाद ही शिखर धवन को होटल की बजाय अस्पताल जाना पड़ा। धवन यहां के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरने के बाद अपोलो ग्लेनइगल्स अस्पताल के लिए निकले। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया, “हम नहीं कह सकते की वह चोट के कारण आए हैं या नियमित जांच के लिए, लेकिन वह यहां आए थे।” [ये भी पढ़ें: दृष्टिहीन टी-20 विश्व कप फाइनल की मेजबानी करेगा बेंगलुरू]

धवन ने इंग्लैंड के खिलाफ जारी श्रृंखला के पहले मैच में एक रन और दूसरे मैच में 11 रन ही बनाए थे। अगर धवन चोटिल होने के कारण तीसरे मैच में नहीं खेलते हैं तो अंजिक्य रहाणे को इस मैच में लोकेश राहुल के साथ पारी की शुरुआत करने का मौका मिल सकता है। कोलकाता में 22 जनवरी को खेला जाने वाला तीसरे वनडे भारतीय टीम के लिए मात्र औपचारिकता है क्योंकि वह सीरीज तो पहले ही जीत चुके हैं। अब मुमकिन है कि कप्तान कोहली शिखर की जगह रहाणे को अंतिम एकादश में मौका दें।