India vs England, 4th Test: Cheteshwar Pujara defends Ravichandran Ashwin
Ravichandran Ashwin (Getty Images)

साउथम्पटन टेस्ट का तीसरे दिन भारतीय स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन के लिए खास नहीं रहा। जिस पिच पर एक दिन पहले इंग्लैंड के स्पिनर मोइन अली ने पांच विकेट झटके थे, वहीं अश्विन केवल एक ही विकेट ले सके। हालांकि चेतेश्वर पुजारा ने अश्विन का बचाव किया।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद पत्रकारों से बातचीत करने आए पुजारा ने, ‘‘ मुझे नहीं लगता कि उसके लिए ये बुरा दिन था। उसे ज्यादा विकेट नहीं मिले लेकिन उन्होंने सही लाइन-लेंथ से गेंदबाजी की। एक गेंदबाज के तौर पर कभी-कभी आपको ऐसे दिनों का सामना करना पड़ता है जब आप अच्छी गेंदबाजी करते हैं लेकिन अधिक विकेट नहीं मिलते।’’

पुजारा ने आगे कहा, ‘‘अश्विन होशियार गेंदबाज है, उसने हमारे लिए घरेलू सीजन और विदेशों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि उसने खराब गेंदबाजी की। हां, पिच काफी धीमी हो गई है और ये एक कारण हो सकता है कि वो जैसा चाहता था वैसे नतीजे नहीं मिले।’’

दूसरे दिन मोइन अली की शानदार गेंदबाजी के बारे में पुजारा ने कहा, “जब उसने पहली पारी में गेंदबाजी की तो विकेट तेज था। हमारे कुछ बल्लेबाज उसके खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी कर सकते थे लेकिन वो एक अच्छा गेंदबाज है। मैं उसकी गेंदबाजी से श्रेय नहीं लेना चाहता लेकिन हमे बेहतर बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। दूसरी पारी में हमारे बल्लेबाज मोइन के खिलाफ बेहतर योजना के साथ खेलेंगे।”

इंग्लैंड टीम ने जोस बटलर और बेन स्टोक्स की साझेदारी की बदौलत 233 रनों की बढ़त हासिल कर ली है। मेजबान टीम 8 विकेट पर 260 रन बनाकर अब भी बल्लेबाजी कर रही है। ऐसे में टीम इंडिया को विशाल लक्ष्य के लिए तैयार रहना होगा। इस बारे में पुजारा ने कहा कि जीत के लिए टीम को धीमी होती इस पिच पर अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी खासकर मोईन अली के खिलाफ। उन्होंने कहा कि ये पिच उपमहाद्वीप की पिचों की तरह हो गई है जिससे चौथी पारी में भारतीय टीम को फायदा हो सकता है।

पुजारा ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि ये हमारे लिए मुश्किल दिन था, पिच को देखें तो ये थोड़ी धीमी हो गई है। ऐसा लग रहा है कि बल्लेबाजी करना थोड़ा आसान है और हमें ऐसी स्थितियों में खेलने का अनुभव हैं। हमने पहली पारी में अच्छी तरह से शुरुआत की लेकिन बीच में बहुत सारे विकेट गंवा दिए, अगर अच्छी बल्लेबाजी की होती तो हमें 100 या 150 रन की बढ़त मिल सकती थी। लेकिन अब वो पुरानी बात हो चुकी है। सभी बल्लेबाजों को पता है कि उन्हें क्या करना है और कल उन्हें ऑलआउट करने के बाद हम दूसरी पारी में हम बल्ले से अच्छा प्रदर्शन करेंगे।”