India vs England, 5th Test: I thought the way Indians bowled was fantastic, says Alastair Cook
Alastair Cook (Getty Images)

ओवल टेस्ट के पहले दो सेशन में केवल एक विकेट हासिल करने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने तीसरे और आखिरी सेशन में जबरदस्त वापसी की। इंग्लैंड के सीनियर बल्लेबाज एलिस्टर कुक ने इस शानदार प्रदर्शन के लिए भारतीय गेंदबाजों की तारीफ की। स्काई स्पोर्ट्स से बातचीत में कुक ने कहा, “मेरा मानना है कि जिस तरह भारतीयों ने गेंदबाजी की वो शानदार था। मैने पूरे दिन में केवल एक कट और एक पुल शॉट खेला होगा। उन्हें इसका श्रेय जाता है।”

कुक ने आगे कहा, “ये एक अविश्वसनीय स्पेल था। मैं दूसरे छोर पर जडेजा का सामना कर रहा था और काफी खुश था। हमे ये समझने में मुश्किल हो रही थी गेंद किस तरफ जा रही है। मोइन ने एक चीज अच्छी की, हां वो खेल रहा था और चूक रहा था लेकिन वो लाइन में ही खेल रहा था। कभी कभी खेलने और छोड़ने के लिए भी काबिलियत की जरूरत होती है। मुझे पता है कि ये थोड़ी मजाकिया बता है लेकिन वो अपने हाथ ज्यादा नहीं हिला रहा था। टेस्ट क्रिकेट में कभी कभी आपको ऐसा करना पड़ता है और आपको थोड़ी किस्मत की जरूरत पड़ती है।”

कुक ने माना की ओवल की पिच बल्लेबाजों के लिए सीरीज में अब तक की सबसे अच्छी पिच है। उन्होंने कहा, “नई गेंद के साथ दोनों टीमों के बल्लेबाजों को इस सीरीज में चुनौती भरी हालात मिले हैं, लेकिन यहां गेंद उतना हरकत नहीं कर रही थी। विकेट भी उतना ज्यादा तेज नहीं था, ये थोड़ा धीमा विकेट था। जैसे जैसे गेंद पुरानी होती जा रही थी, थोड़ी स्विंग मिल रही थी। पूरी सीरीज में अब तक गेंद सीधी नहीं चली है।”

अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे कुक ने पहली पारी में 71 रन बनाए। सीरीज में अब तक कुछ खास नहीं कर पाए कुक के लिए इस मैच में बड़ा स्कोर बनाना काफी अहम था। इस बारे में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि भावनाओं की वजह से मैं बिना स्कोर किए नहीं जाना चाहता था। पूरे हफ्ते इतनी चर्चा के बाद क्रीज पर जाकर टीम के लिए योगदान ना दे पाना सबसे बुरा होता। मैं शायद थोड़ा नर्वस भी था। हर कोई कहता है कि ‘केवल मजा लो, इससे फर्क नहीं पड़ता कि कितने रन बनते हैं’ लेकिन असल में ऐसा नहीं होता। ऐसा कभी कोई क्रिकेट मैच हुआ ही नहीं। पहला रन बनाकर अच्छा लगा, ये सबसे अहम चीज थी। शायद सात या आठ गेंद खेलने के बाद ऐसा कर पाया और फिर वहां से आगे बढ़ता गया।”