live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 1st test match live, india vs england 1st test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live rajkot
चेतेश्वर पुजारा © AFP (File Photo)

भारत और इंग्लैंड के बीच राजकोट में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का बल्ला खूब चला और उन्होंने मैच के तीसरे दिन इंग्लैंड क गेंदबाजों की खूब खबर ली। पुजारा ने तीसरे विकेट के लिए विजय के साथ कुल 209 रनों की साझेदारी की और इंग्लैंड के हर गेंदबाज की बखिया उधेड़ दी। आलम यह था कि एक समय इंग्लैंड के कप्तान इन दोनों की बल्लेबाजी से इतना परेशान हो गए थे कि सोच नहीं पा रहे थे कि इनसे कैसे पार पाया जाए। पुजारा ने मैच की पहली पारी में जहां 124 रन बनाए वहीं विजय ने 126 रनों की पारी खेली। हालांकि, दूसरी पारी में जब पुजारा बल्लेबाजी के लिए आए तो वह 18 रनों पर आउट हो गए और इस तरह वह टेस्ट क्रिकेट में अपने 3,000 रन पूरे करने से सिर्फ 3 रनों से रह गए। भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा मैच विशाखापत्तनम में 17 नवंबर से शुरू हो रहा है। ऐसे में पुजारा के पास एक और मौका होगा कि वह अपने 3,000 रन पूरे करें। [ये भी पढ़ें: एलिस्टेयर कुक का चक्रव्यूह टीम इंडिया के सामने सबसे बड़ी चुनौती]

वर्तमान में पुजारा ने 39 टेस्ट की 66 पारियों में 49.95 की औसत से 2,997 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 206* रहा है जो उन्होंने इंग्लैंड के ही खिलाफ नवंबर 2012 में अहमदाबाद में बनाया था। टेस्ट में पुजारा के नाम अब तक कुल 9 शतक और 10 अर्धशतक हैं। वहीं वह 5 छक्के और 370 चौके जड़ चुके हैं। पुजारा ने साल 2010 में भारत की ओर से बैंगलुरू में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पदार्पण किया था। पिछले दिनों जब वह वेस्टइंडीज सीरीज पर गए थे तब उनकी फॉर्म डांवाडोल होने लगी थी और इस तरह उनके करियर को लेकर सवालिया निशान लगने लगे थे। जब वह भारत लौटकर आए तो उन्होंने दुलीप ट्रॉफी में एक दोहरा शतक और शतक जड़ दिया और इस तरह उन्हें एक बार फिर से न्यूजीलैंड सीरीज के लिए टीम में शामिल किया गया। इस सीरीज में पुजारा ने दो अर्धशतक तो जमाए ही साथ ही शतक जड़ दिया औ वह सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। राजकोट टेस्ट में शतक जड़कर उन्होंने एक बार फिर से अपनी अनूठी प्रतिभा का परिचय दिया है।