India vs England: close matches like 4th T20I will help in ICC T20 World Cup 2021, says Ben Stokes
Ben Stokes @ BCCI

इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने कहा कि भारत के खिलाफ (India vs England) चौथे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच की तरह करीबी मैचों से उन्हें विश्व कप (ICC T20 World Cup 2021) की बेहतर तैयारियों में मदद मिलेगी क्योंकि वे दबाव की परिस्थितियों का सामना करने के लिये तैयार रहेंगे।

इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) की अगुवाई वाली टीम पांच मैचों की श्रृंखला में 3-1 से अजेय बढ़त हासिल करने के लिये प्रयासरत थी लेकिन उसे आखिर में भारत से आठ रन से हार का सामना करना पड़ा। इससे शनिवार को होने वाला पांचवां मैच फाइनल जैसा बन गया है।

स्टोक्स (Ben Stokes) ने गुरुवार को मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘जो भी यह मैच जीतेगा, श्रृंखला उसके नाम होगी और इसलिए आप जानते हैं कि एक टीम के रूप में यह हमारे लिये बहुत अच्छा है विशेषकर जबकि टी20 विश्व कप ज्यादा दूर नहीं है। हम दबाव की परिस्थितियों में जितना अधिक खेलेंगे हमें उससे उतना ही फायदा होगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी टीम जितना अधिक दबाव झेलेगी उसका उतना ही लाभ हमें विश्व कप में मिलेगा क्योंकि विश्व कप में हर मैच बेहद महत्वपूर्ण होता है। ’’

अहमदाबाद में चला रोहित शर्मा का जादू, मुश्किल वक्‍त पर संभाती कप्‍तानी, टीम को दिलाई जीत

स्टोक्स ने 23 गेंदों पर 46 रन बनाकर इंग्लैंड को जीत के करीब पहुंचा दिया था लेकिन शार्दुल ठाकुर ने उन्हें और कप्तान मोर्गन को लगातार गेंदों पर आउट करके भारत को वापसी दिलायी।

स्टोक्स ने कहा, ‘‘हमारे किसी बल्लेबाज को आखिर तक टिके रहना चाहिए था। निचले क्रम के बल्लेबाजों पर अधिक रन बनाने का जिम्मा छोड़ना आदर्श स्थिति नहीं थी। ऐसी स्थिति में मध्यक्रम के हमारे किसी बल्लेबाज को आखिर तक टिककर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाना चाहिए था। यह तब निराशाजनक होता है जबकि आपको लगता है कि मैच आपके हाथ में है।’’

IND vs ENG: वनडे टीम का ऐलान, मुंबई इंडिया के इन दो युवाओं को पहली बार मिली स्‍क्‍वाड में जगह

उन्होंने शनिवार को होने वाले मैच के बारे में कहा, ‘‘यह फाइनल है क्योंकि अगर हम नहीं जीतते तो श्रृंखला गंवा देंगे और हम श्रृंखला नहीं गंवाना चाहते हैं।’’

स्टोक्स ने कहा, ‘‘हम जीत को अपनी आदत बनाना चाहते हैं। जैसा मैंने कहा कि हमें जितना अधिक दबाव की परिस्थितियों में रखा जाता है उतना ही हमारे लिये अच्छा होगा। ’’