इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मैच के दौरान भारतीय के लिए अंतरराष्ट्रीय डेब्यू करने वाले इशान किशन (Ishan Kishan) ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के दौरान जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और ट्रेंट बोल्ट (Trent Boult) जैसे दिग्गज गेंदबाजों के खिलाफ बल्लेबाजी करने से उन्हें आत्मविश्वास मिला है। किशन आईपीएल में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी में मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हैं।

किशन ने अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले अपने डेब्यू टी20 मैच में किशन ने 32 गेंदो पर 56 रनों की शानदार पारी खेलकर प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब जीता। इसी के साथ झारखंड का ये विकेटकीपर बल्लेबाज डेब्यू टी20 मैच में अर्धशतक बनाने वाला दूसरा भारतीय क्रिकेटर बना। किशन के अलावा ये रिकॉर्ड टेस्ट उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) के नाम है।

मैच के बाद वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आईपीएल के बारे में किशन ने कहा, “जाहिर तौर पर मुंबई इंडियंस के साथी खिलाड़ी जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट के खिलाफ नेट में बल्लेबाजी करने से मदद मिली है। वो काफी तेज गति के गेंदबाजी हैं और उनके खिलाफ शॉट लगाने से आत्मविश्वास बढ़ता है। आईपीएल में आपको दुनिया भर के क्वालिटी गेंदबाजों का सामना करने को मिलता है और आप इन गेंदबाजों के आदी हो जाते हैं और मुझे लगता है कि इससे मुझे काफी मदद मिली है।”

सालों से आईपीएल में खेलने के बावजूद किशन अपने पहले अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान काफी नर्वस थे, हालांकि उन्होंने ये भी माना कि उन पर किसी तरह का दबाव नहीं था। उन्होंने कहा, “जाहिर है कि भारत के लिए खेलना दबाव नहीं है। अपने देश का प्रतिनिधित्व करना और ब्लू जर्सी पहनना सम्मान और गर्व की बात है।”

किशन ने कहा, “मैच से पहले मुझसे कहा गया था कि तुम्हे पारी की शुरुआत करनी है और खुलकर खेलना है, जिस तरह से मैं आईपीएल में खेलता आया हूं। मुझसे अतिरिक्त दबाव ना लेने को कहा गया था। लेकिन चूंकि ये मेरा पहला मैच था, मैं मैदान पर जाने से पहले थोड़ा नर्वस था। लेकिन जब आप अपने देश के लिए ब्लू जर्सी पहनते हैं तो सारा दबाव चला जाता है और अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करते हैं।”