टीम इंडिया के युवा बल्लेबाज केएल राहुल (KL Rahul) के पास ऑस्ट्रेलिया में ब्रिसबेन टेस्ट खेलने का मौका था. लेकिन उनकी कलाई में लगी चोट के कारण उन्हें दौरा बीच में छोड़कर भारत लौटना पड़ा. ब्रिसबेन में टीम इंडिया अपने कई स्टार खिलाड़ियों की चोट से परेशान थी. अगर राहुल चोटिल नहीं होते तो शायद उन्हें मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) से पहले प्लेइंग XI में मौका मिल सकता था. लेकिन इस खिलाड़ी ने कहा कि रेस्ट के बाद अब वह पूरी तरह फिट हैं और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलने को तैयार हैं.

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 28 वर्षीय राहुल वनडे और टी20 सीरीज में खेले थे. लेकिन पहले 2 टेस्ट मैचों में उन्हें मौका नहीं मिला. मेलबर्न में उनके बाएं हाथ की कलाई चोटिल हो गई थी, जिससे वह अंतिम दो टेस्ट मैचों से बाहर हो गए थे.

https://twitter.com/klrahul11/status/1356503346178379776?s=20

राहुल इसके बाद स्वदेश लौट आए थे और स्वास्थ्य लाभ के लिए बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) से जुड़ गए थे. राहुल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘खुशी है कि मैंने रिहैबिलिटेशन अच्छी तरह से पूरा किया. फिर से फिट और स्वस्थ होने से बेहतर अहसास कुछ नहीं होता. खिलाड़ियों के साथ वापसी करना हमेशा मजेदार होता है. देश का प्रतिनिधित्व करना सम्मान है. मेरी निगाहें अब घरेलू सीरीज पर टिकी हैं.’

ऑस्ट्रेलिया में सीमित ओवरों की सीरीज में दो अर्धशतक जमाने वाले राहुल को इंग्लैंड के खिलाफ 5 फरवरी से चेन्नई में शुरू होने वाले पहले दो टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है.’ केएल राहुल ने अपना आखिरी टेस्ट अगस्त-सितंबर 2019 में वेस्टइंडीज दौरे पर किंग्सटन में खेल था.

राहुल भारतीय टीम के लिए ओपनिंग से लेकर मिडल ऑर्डर तक किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी संभाल सकते हैं. लेकिन फिलहाल ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद उन्हें प्लेइंग XI मौका मिलना मुश्किल दिख रहा है. भारतीय टीम में रोहित शर्मा, शुबमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रिषभ पंत, हार्दिक पांड्या के रूप में पहले ही 7 बल्लेबाज मौजूद हैं. ऐसे में राहुल को संभवत: अभी और इंतजार करना होगा.

इनपुट: भाषा