India vs England: Just competing not enough, need to learn art of crossing the line; Virat Kohli
Ravichandran Ashwin and Virat Kohli of India appeal © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में 60 रन से मिली हार के बाद निराश है। दुनिया की नंबर एक टीम होने के बाद भी इंग्लैंड में टीम सिर्फ जूझने में कामयाब रही सीरीज नहीं जीत पाई। कप्तान का मानना है विदेश में सिर्फ अच्छा खेल दिखाना काफी नहीं है बल्कि जीतना सीखना होगा।

साउथम्पटन टेस्ट में हार के बाद कप्तान विराट कोहली ने कहा, ”हम स्कोरबोर्ड को देखने के बाद कह सकते हैं कि हम सिर्फ 30 या 50 रन कम रह गए। जब हम इस स्थिति से गुजर रहे हों तब हमें इसे समझना होगा, बाद में नहीं। हमें पता है हमने अच्छी क्रिकेट खेली लेकिन यह बात हम बार बार अपने आप से नहीं कह सकते कि हमने अच्छी टक्कर दी।”

जीत के करीब पहुंचकर हारने से निराश विराट ने टीम के जज्बे को लाजवाब बताया लेकिन इसे जीत में दब्दील करने की कला सीखने पर जोर दिया।

”जब हम जीत के इतने करीब आ जाते हैं तो उसे हासिल करने की कला भी हमें आनी चाहिए। हमारे अंदर वो क्षमता है तभी जीत के करीब पहुंच पाते हैं। जब दबाव का क्षण आता है तब हम कैसी प्रतिक्रिया देते हैं सबकुछ इसपर ही निर्भर करता है। यही वो बात है जिसपर हमें काम करना है।”

भारतीय टीम को पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में 31 रन से हार का सामना करना पड़ा था। लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे मैच में भारत को पारी और 159 रन से हार मिली थी। नॉटिंघम के तीसरे मुकाबले में भारतीय टीम ने वापसी करते हुए 203 रन की जीत दर्ज की थी। चौथे मैच में भारतीय टीम जीत के करीब पहुंच कर 60 रन से चूक गई।