भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज के दौरान टीम इंडिया को टर्निंग पिच तैयार करने के लिए लगातार आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। चेन्नई में खेले गए पहले दो टेस्ट मैचों के बाद अहमदाबाद में हुए तीसरे मैच के मात्र दो दिन में खत्म होने पर विपक्षी टीम के कई दिग्गज खिलाड़ियों ने मोटेरा स्टेडियम की पिच को टेस्ट के लायक ना बताकर भारतीय मैनेजमेंट को खरी खोटी सुनाई।

इसी स्टेडियम में गुरुवार से शुरू होने वाले चौथे टेस्ट से पहले जब टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लोग जो कहना चाहते हैं कहते रहें, इससे हमें फर्क नहीं पड़ता। रहाणे ने ये भी कहा कि हर टीम घर पर खेलते समय घरेलू मैदान और पिचों का फायदा उठाती है। उन्होंने कहा कि हमने विदेशों में तेज गेंदबाजों की मददगार पिचों के खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला।

चौथे टेस्ट के पहले ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस के दौरान रहाणे ने थोड़े गुस्सा भरे लहजे में कहा, ‘‘लोग जो कह रहे है, उन्हें कहने दीजिए। जब हम विदेश दौरे पर जाते है तो तेज गेंदबाजों की मदद पिच को लेकर कोई कुछ नहीं कहता है। वे तब भारतीय बल्लेबाजों की तकनीक की बात करते है, मुझे नहीं लगता कि इसे गंभीरता से लिये जाने की जरूरत है।’’

भारतीय टेस्ट उपकप्तान ने कहा, ‘‘ आप देखिये, जब हम विदेश दौरे पर जाते हैं, तो पहले दिन विकेट में काफी नमी होती है। जब पिच पर घास होती है तो गेंद असामान्य तरीके से उछाल लेती है। ऐसे में पिच खतरनाक हो जाती है लेकिन हमने कभी इसके बारे में शिकायत नहीं की है।’’

पिच के बारे में रहाणे ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि विकेट (पिच) चेन्नई में खेले गये दूसरे टेस्ट मैच के जैसा ही होगा, जिस पर स्पिनरों को मदद मिलेगी। हां, गुलाबी गेंद से थोड़ा फर्क पड़ा और जो लाल गेंद की तुलना में पिच पर टप्पा खाने के बाद तेजी से आ रही थी । हमें इससे सामंजस्य बिठाना पड़ा। ये पिच भी पिछले दो मैचों की तरह ही होगी।’’

स्पिनरों की मददगार पिच पर गेंद की दिशा में खेलना जरूरी हो जाता है। उन्होंने कहा, ‘‘जब आप स्पिनरों की मददगार पिच पर खेलते है तो आपको गेंद की दिशा के मुताबिक खेलना होता है, अगर गेंद ज्यादा घूम रही है तो आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं होती है।’’

पिछले दो मैचों में इंग्लैंड की करारी शिकस्त के बाद भी रहाणे उन्हें कम नहीं आंक रहे है। उन्होंने कहा, ‘‘ये पिच भी वैसी ही दिख रही है लेकिन हमें अभी देखना होगा कि ये कैसा बर्ताव करती है। हम टीम के तौर पर इंग्लैंड का सम्मान करते है। वे पहले टेस्ट में अच्छा खेले और हम उसके बाद के दो मैचों में बेहतर रहे। हम उन्हें हल्के में नहीं ले रहे है, दोनों टीमें मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर टेस्ट मैच जीतना चाहेगी।’’

उन्होंने इशारा किया कि अनुभवी तेज गेंदबाज उमेश यादव को इस मैच में मौका मिल सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘उमेश तैयार है। वो अच्छे लय में और और उसका नेट सेशन भी अच्छा रहा। हमें खुशी है कि उसने टीम में वापसी की है।’’