india vs england rishabh pant should not throw his wicket in gift says madan lal
रिषभ पंत @ICCTwitter

द ओवल टेस्ट में भारत की दूसरी पारी के दौरान रिषभ पंत (Rishabh Pant) द्वारा खेली गई अर्धशतकीय पारी की जमकर तारीफ हो रही है. इससे पहले पंत इस सीरीज में लगातार अपनी गलतियों से आउट हो रहे थे. लेकिन इस बार जब टीम इंडिया को उनसे एक उपयोगी पारी की दरकार थी और उन्होंने निराश नहीं किया.

पंत ने 106 गेंदों का सामना कर 50 रन बनाए. इस पारी के दौरान उन्होंने सिर्फ 4 चौके ही जमाए. उनकी इस धैर्य भरी पारी की काफी तारीफ हो रही है. पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदन लाल (Madan Lal) ने उन्हें सलाह दी है कि उन्हें ऐसे ही विकेट पर समय बिताने की जरूरत है बजाए कि वह उल्टा-सीधा शॉट खेलकर आउट हों.

मदन लाल ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, कल उन्होंने दूसरी पारी के दौरान अपने आप को परिस्थितियों के अनुकूल ढ़ाला जो कि सराहनीय है. वह एक अच्छे और टीम के लिए मूल्यवान खिलाड़ी हैं, उन्हें क्रीज पर और समय बिताने की जरुरत है बजाय कि वह लचीला शॉट खेल कर आउट हो जाएं.

बांए हाथ के बल्लेबाज पंत ने रविवार को दूसरी पारी के दौरान 106 गेंदों पर 50 रन की पारी खेली. यह पंत का इस सीरीज में पहला अर्धशतक था. पंत का विकेट मोईन अली ने आउट किया.

मदन लाल ने आगे कहा, अच्छी गेंदों पर आउट होना अलग बात है पर अपने विकेट को विरोधी टीम को तोहफे में देना गलत है. मुझे कल उनकी बल्लेबाजी देख कर अच्छा लगा, जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाजी की लय को बनाए रखा. चाहे वो टेस्ट क्रिकेट हो या और कोई अन्य प्रारूप ऐसे ही बल्लेबाजी करनी चाहिए.

पूर्व खिलाड़ी ने कहा, खेल के अंतिम दिन 291 रन का पीछा करना आसान नहीं है पर यह क्रिकेट है जहां कुछ भी हो सकता है. मुझे लगता है कि अभी खेल 60-40 से भारत के पक्ष में है. यानी कि 60 प्रतिशत भारत के जीतने की उम्मीद है, जबकि 40 प्रतिशत इंग्लैंड के जीतने की उम्मीद है.

इंग्लैंड में टेस्ट क्रिकेट के 141 साल के इतिहास में मात्र दो ही बार ऐसा संभव हो सका है कि 350 से अधिक के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया गया हो. मदन लाल ने कहा कि यह टेस्ट भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि अंतिम टेस्ट में वापसी करना आसान नहीं रहेगा.