टीम इंडिया @BCCITwitter

21वीं सदी के तीसरे दशक में एंट्री हो चुकी है और भारतीय टीम यहां अपना सुनहरा इतिहास रचने से बस दो कदम दूर है. टीम इंडिया इस सदी में अब तक 98 टेस्ट मैच जीत चुकी है. अगर वह शुक्रवार से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो 4 टेस्ट की सीरीज में 2 मैच जीत लेती है तो 21वीं सदी में वह टेस्ट जीत का शतक पूरा कर लेगी. भारत ने 1 जनवरी 2000 से अब तक 216 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उसने 98 जीते हैं, 59 हारे हैं और 59 ही ड्रॉ रहे हैं. भारत की सफलता दर 45.37 फीसदी रही है. अगर टीम इंडिया ने यह उपलब्धि हासिल कर ली तो वह ऐसा करने वाली दुनिया की चौथी टीम बन जाएगी.

इस सदी में भारत ने अपना सबसे ज्यादा टेस्ट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले हैं और उसी के खिलाफ जीते भी हैं. भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 46 टेस्ट मैचों में से 19 जीते हैं, जबकि 16 में उसे हार मिली है और शेष 11 ड्रॉ रहे हैं. इसके बाद भारत ने दूसरे सबसे ज्यादा टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले हैं, जिसमें उसने 28 मैचों में से 15 जीते हैं और केवल 2 ही हारे हैं. भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 12 जीते हैं और 15 हारे हैं.

21वीं सदी में भारत का टेस्ट रिकॉर्ड ©IANS

इस सदी में अब तक 100 या इससे ज्यादा टेस्ट मैच जीत चुकी टीमों की अगर बात करें तो इसमें ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका की टीमें सबसे आगे हैं. ऑस्ट्रेलिया ने सबसे ज्यादा 138 टेस्ट मैचों में जीत अपने नाम कर ली है. इस सदी में उसने 1 जनवरी 2000 से अब तक कुल 232 टेस्ट खेले हैं. उसके बाद इंग्लैंड की टीम है, जिसने 266 टेस्ट मैच खेलकर 120 में जीत दर्ज की है, जबकि साउथ अफ्रीका ने 204 टेस्ट में 100 में जीत दर्ज की है.

भारत ने जून 1932 में अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. तब से लेकर 31 दिसंबर 1999 तक उसने 330 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें से उसने केवल 61 जीते थे, 109 हारे थे और 159 ड्रॉ रहे थे. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1986-87 में उसका एकमात्र टेस्ट टाई रहा था.

इनपुट: IANS