विराट कोहली © AFP
विराट कोहली © AFP

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने खुलासा करते हुए अपनी सफलता की वजह बताई है। विराट कोहली ने ये खुलासा कमेंटेटर नासिर हुसैन के साथ साक्षात्कार के दौरान किया। कोहली ने खुलासा करते हुए कहा कि मेरे आस पास ऐसे बहुत ही कम लोग हैं जिसके साथ मैं घुला मिला हूं और यही मेरी सफलता का राज है। अगर आपके पास कई लोग होते हैं जिनके साथ आपको हंसी-मजाक या बात करनी पड़ती है तो ऐसे में आपका समय बहुत खराब होता है।

कोहली ने कहा कि कभी-कभी हमें खुद नहीं पता होता कि हम कितना कुछ दे सकते हैं, मैं आमतौर पर खुद पर कोई पाबंदी नहीं रखता और मैदान पर अपना शत-प्रतिशत देने की कोशिश करता हूं। साथ ही समय को लेकर भी मैं काफी गंभीर रहता हूं। आपको हर चीज के बीच संतुलन बनाए रखना होता है। मैं सही कहूं तो मैं संतुलन बनाने में कामयाब रहा हूं। ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने जड़ा ऐसा छक्का कि हर कोई रह गया स्तब्ध

वहीं सचिन तेदुलकर के साथ तुलना करने पर कोहली ने कहा कि आने वाले समय में सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ना काफी मुश्किल होगा। हो सकता है मैं 24 सालों तक क्रिकेट ना खेल पाऊं, 200 टेस्ट, 100 अंतरराष्ट्रीय शतक ये सब बेहतरीन हैं और इन्हें तोड़ना नामुमकिन है। लेकिन हां, मैं अंतर जरूर पैदा कर सकता हूं और मैं अपने खेल को सबसे उच्च स्तर तक ले जाना चाहूंगा।

आपको बता दें कि पहले वनडे में इंग्लैंड के 350 रनों के विशाल स्कोर के जवाब में भारत ने कोहली-जाधव के शानदार शतक की मदद से पहाड़ जैसे लक्ष्य को हासिल कर लिया था और मैच जीतने में कामयाब हो गया था।