भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम के तीन स्टैंड्स- I, J और  K दोबारा खेले जाएंगे। 13 फरवरी से शुरू होने वाले इस टेस्ट मैच में 2012 के बाद पहली बार किसी अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए दर्शकों के लिए खोला जाएगा।

इन तीनों स्टैंडों को अलग-अलग कारणों से 2011 विश्व कप के बाद सील कर दिया गया था, जिससे शहर को 2016 में टी20 विश्व कप और 2019 में आईपीएल फाइनल सहित विभिन्न टूर्नामेंटों और मैचों की मेजबानी से हाथ धोना पड़ा था। तीनों स्टैंडों की अधिकतम क्षमता 12,000 दर्शकों (लगभग चार-चार हजार) की हैं।

भारत और पाकिस्तान के बीच 2012 में खेला गया वनडे मैच हालांकि अपवाद था जिसके लिए इन दर्शक दीर्घाओं को खोला गया था।तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने रविवार को बताया कि दूसरे टेस्ट मैच के लिए नौ फरवरी से टिकटों की बिक्री शुरू होगी।

टीएनसीए के सचिव आरएस रामसामी ने बताया कि लगभग 15,000 टिकट बेचे जाएंगे और ये सभी टिकट ऑनलाइन उपलब्ध होंगे। इस बीच, दूसरे टेस्ट के दौरान दर्शकों के स्वागत के लिए टीएनसीए कर्मचारियों ने ने स्टैंडों की सफाई शुरू कर दी है।

चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला पहला मैच फिलहाल दर्शकों के बिना खेला जा रहा है। रामासामी ने बताया कि मीडिया भी दूसरे टेस्ट मैच को मैदान से कवर कर पाएंगे।