india vs ireland last over excitement umran malik hold his nerve
umran malik

टी20 क्रिकेट की एक खूबी यह भी है कि आप किसी भी स्कोर को लेकर निश्चिंत नहीं हो सकते। यहां कोई भी स्कोर हासिल किया जा सकता है। फिर चाहे सामने कोई भी टीम क्यों न हो। मंगलवार को भारतीय टीम को एक बार फिर यह अहसास हुआ होगा।

भारत ने डब्लिन के मैदान पर आयरलैंड के खिलाफ मुकाबले में 225 रन का स्कोर बनाया। दीपक हुड्डा ने कमाल की सेंचुरी लगाई और संजू सैमसन ने 77 रन की पारी खेली। इसके बाद हार्दिक पंड्या की कप्तानी वाली टीम को आयरिश दम देखने को मिला।

अनुभवी पॉल स्टर्लिंग ने सिर्फ 18 गेंद पर 40 रन बनाए। अपनी पारी में पांच चौके और तीन छक्के जड़े। कप्तान एंडी बारबर्नी ने भी 60 रन की पारी खेली। पारी के अंत में जॉर्ज डॉकरेल और मार्क एडिर ने भारतीय गेंदबाजों को मुश्किल में डाल दिया।

आयरलैंड को आखिरी ओवर में 17 रन चाहिए थे। क्रीज पर मौजूद डॉकवेल ने 15 गेंद पर 34 रन बना दिए थे। और एडिर ने 6 गेंद पर 13। आयरलैंड उलटफेर करने की स्थित में था। हर्षल पटेल ने चार ओवर में 54 रन दिए थे। और भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 46 रन दिए थे।

कप्तान हार्दिक पंड्या के पास ज्यादा विकल्प नहीं थे। अक्षर पटेल ने दो ओवर फेंके थे लेकिन आखिरी ओवर में स्पिनर पर दांव खेलना भारी पड़ सकता था। और पंड्या खुद को गेंदबाजी के दबाव से मुक्त में नहीं आना चाहते थे। वह पूरा ध्यान सिर्फ खेल पर रखना चाहते थे। ऐसे में उन्होंने गेंद थमाई उमरान मलिक को। मलिक की रफ्तार पर दांव खेलना भी कम रिस्की नहीं था। मलिक ने तीन ओवर में 30 रन दिए थे। लेकिन हार्दिक ने यह जुआ खेला। तो, देखते हैं आखिरी ओवर में कैसा रहा रोमांच…

19.1 ओवर- मलिक की गेंद एडिअर को- कोई रन नहीं। ऑफ स्टंप से थोड़ा बाहर फुल गेंद। एडिअर ने गेंद को पॉइंट की दिशा में खेलना चाहा लेकिन गेंद बल्ले पर नहीं आई।

19.2- मलिक की गेंद एडिअर को- नो बॉल। यह मलिक ने ठीक नहीं किया। इस बार एडिअर ने गेंद को ऑफ स्टंप पर खेलना चाहा। लेकिन फिर गेंद और बल्ले का मेल नहीं हुआ। हालांकि नो-बॉल का एक अतिरिक्त रन, अतिरिक्त गेंद और फ्री हिट बैटिंग टीम को मिल गए थे।

19.2- मलिक की गेंद एडिअर को- चार रन। एडिअर ने अगला पांव हटाकर जगह बनाई और गेंद को कवर्स की दिशा में खेल दिया।

19.3- मलिक की गेंद एडिअर को- एक और चौका। अतिरिक्त रफ्तार का यही नुकसान होता है। चौथे स्टंप के आसपास की लाइन। एडिअर ने कट करने की कोशिश की। गेंद ने बल्ले का किनारा लिया और थर्डमैन बाउंड्री पर चार रन। फील्डर ऊपर था और गेंद बाउंड्री पर।

तीन गेंद पर नौ रन बन चुके थे। अगली तीन गेंद पर 8 रन चाहिए थे। मैच अब रोमांचक हो चुका था।

19.4 – मलिक की गेंद एडिअर को- एक रन। ऑफ स्टंप के बाहर गेंद। एडिअर ने कवर्स के ऊपर से खेलना चाहा। बल्ले का अंदरूनी किनारा लगा। शॉर्ट लाइन लेग पर गेंद गई। एक रन।

19.5- उमरान की गेंद डॉकरेल को- एक रन। कमाल की वापसी। बाई का रन बना। डॉकरेल ने स्टंप छोड़कर जगह बनाई। लेकिन उमरान ने समझदारी दिखाते हुए बल्लेबाज का पीछा किया और कमाल की यॉर्कर फेंकी। बल्लेबाज के पास कोई विकल्प नहीं था। बस बाई का एक रन बना।

19.6- मलिक की गेंद एडिअर को- इस गेंद पर छह रन की जरूरत थी। एडिअर सिर्फ एक ही रन बना सके। भारत ने मुकाबला चार रन से जीता।