टॉम लैथम © Getty Images
टॉम लैथम © Getty Images

टॉम लेथम के शतक 103* और रॉस टेलर के 95 रनों की बदौलत न्यूजीलैंड ने मुंबई में खेले गए पहले वनडे मैच में टीम इंडिया को 6 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही न्यूजीलैंड ने सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है। भारत के द्वारा दिए गए 281 रनों के लक्ष्य को न्यूजीलैंड ने 49 ओवरों में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। न्यूजीलैंड ने एक समय 80 रनों पर अपने 3 विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में लग रहा था कि न्यूजीलैंड टीम धराशाई हो जाएगी। ऐसी विपरीत परिस्थिति में रॉस टेलर और टॉम लेथम ने जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली और टीम को जीत की ओर ले गए।

200 रनों की साझेदारी रही टर्निंग प्वाइंट: दोनों ने चौथे विकेट के लिए 200 रनों की साझेदारी निभाई और भारतीय गेंदबाजों को हावी होने का कोई मौका नहीं दिया। न्यूजीलैंड की ओर से भारत के खिलाफ यह अबतक निभाई गई सबसे बड़ी साझेदारी है। इसके पहले साल 2010 में स्कॉट स्टायरिश और टेलर ने 190 रनों की साझेदारी दांबुला में निभाई थी। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार और हार्दिक पांड्या ने 1-1 विकेट लिया।

टीम इंडिया की पारी: इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही और बोल्ट ने शिखर धवन (9) और रोहित शर्मा (20) को पवेलियन भेज भारत को शुरुआती झटके दिए। 29 रन पर 2 विकेट गिरने के बाद अभी भारत के स्कोर में 42 रन और जुड़े थे कि सैंटनर ने जाधव (12) को आउट कर भारत को तीसरा झटका दे दिया। टीम इंडिया के 3 विकेट सिर्फ 71 रनों पर गिर चुके थे।

3 विकेट गिर जाने के बाद कोहली ने कार्तिक के साथ मिलकर पारी को संभाला। दोनों ने भारत के स्कोर को लगातार आगे बढ़ाया और कमजोर गेंदों को बाउंड्री के पार भी पहुंचाया। इस बीच दोनों ने भारत के स्कोर को 100 के पार भी पहुंचा दिया। इसी बीच कोहली ने अपना अर्धशतक भी पूरा कर लिया। दोनों बल्लेबाज अब टिकते दिख रहे थे लेकिन इसी बीच कार्तिक बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में साऊदी का शिकार हो गए। आउट होने से पहले कार्तिक ने (37) रनों की पारी खेली।

इसके बाद कोहली ने पहले धोनी के साथ मिलकर भारत के स्कोर को 200 के पार पहुंचा दिया। इसके बाद उन्होंने रनरेट को तेजी दी और कीवी टीम के गेंदबाजों को जमकर धोया। दूसरे छोर पर धोनी भी टिकते नजर आ रहे थे लेकिन धोनी बड़ी पारी नहीं खेल सके और (25) रन बनाकर बोल्ट का तीसरा शिकार बन गए। हालांकि धोनी के आउट होने के बाद भी कोहली ने पांड्या के साथ मिलकर रन बनाना जारी रखा और इसी बीच उन्होंने अपना 31वां शतक भी पूरा कर लिया। इस दौरान टीम इंडिया ने पांड्या (16) का विकेट भी खो दिया।

विराट कोहली ने वानखेड़े पर बनाया 'मनमोहक रिकॉर्ड'
विराट कोहली ने वानखेड़े पर बनाया 'मनमोहक रिकॉर्ड'

आखिर में कोहली की दमदार पारी की बदौलत टीम इंडिया ने 50 ओवरों में 280/8 का स्कोर खड़ा किया। आखिर ओवरों में कोहली ने और आक्रामक होकर बल्लेबाजी की और कीवी टीम के गेंदबाजों पर कहर बनकर टूटे। हालांकि जरूरत से ज्यादा तेज खेलने के चक्कर में कोहली आखिरी ओवर में (121) रन बनाकर आउट हो गए लेकिन अंत में भुवनेश्वर कुमार ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और (26) रन बनाकर आउट हुए।