ग्रीन पार्क की पिच पर पहला देता पुलिसकर्मी (साभार- Getty Images)
ग्रीन पार्क की पिच पर पहला देता पुलिसकर्मी (साभार- Getty Images)

भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीसरा और आखिरी वनडे मैच कानपुर में खेला जाना है। रविवार को होने वाले इस मुकाबले में वनडे सीरीज के विजेता का फैसला होगा। इस मैच के लिए कानपुर में यूपीसीए जोर-शोर से जुटी हुई है। सबसे ज्यादा हैरानी की बात ये है कि कानपुर के मैदान के साथ-साथ यूपीसीए ने पिच पर भी पुलिस का पहरा लगा दिया है। कानपुर के ग्रीन पार्क मैदान पर यूपी पुलिस का एक जवान पहरा दे रहा है।

आप सोच रहे होंगे कि आखिर पिच की निगरानी के लिए पुलिस लगाने की क्या जरूरत आ पड़ी? दरअसल पुणे में पिच फिक्सिंग सामने आने के बाद यूपीसीए ने ये कदम उठाया। पुणे में भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरा वनडे मैच खेला गया था। मैच से पहले इंडिया टुडे ने स्टिंग ऑपरेशन में पिच फिक्सिंग का पर्दाफाश किया था। इंडिया टुडे की खबरों की मानें तो उनके रिपोर्टर बुकी के तौर पर पिच क्यूरेटर पांडुरंग सालगांवकर से मिले और उसे पैसों के बदले पिच बदलने को कहा गया जिसके लिए क्यूरेटर सालगांवकर तैयार भी हो गया। स्टिंग ऑपरेशन के बाद बीसीसीआई ने पिच क्यूरेटर को बर्खास्त कर दिया गया और उसकी जांच जारी है।

रणजी ट्रॉफी में जलज सक्सेना ने बनाया 'सबसे बड़ा रिकॉर्ड'
रणजी ट्रॉफी में जलज सक्सेना ने बनाया 'सबसे बड़ा रिकॉर्ड'

ग्रीन पार्क में घुस आए थे अनजान लोग

भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे 29 अक्टूबर को कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में होना है और इस मुकाबले से पहले ग्रीन पार्क मैदान पर भी घुसपैठ हो गई थी। जी हां खबरों की मानें तो बुधवार को कुछ अनजान लोग ग्रीन पार्क के मैदान पर घुस आए। प्रशासन को जब इस बात का पता चला तो उन लोगों को मैदान से बाहर निकाला गया। अनजान लोगों का मैदान पर घुस आना सुरक्षा में चूक की तरह ही है। शायद यही सब देखते हुए यूपी क्रिकेट एसोसिएशन ने पिच के पास पुलिस का जवान तैनात करा दिया।