PTI
PTI

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने मुंबई में कहा कि आने वाली वनडे सीरीज में भारत के युवा कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी का सामना करना उनकी टीम के लिये मुश्किल काम होगा। विलियमसन ने पत्रकारों से कहा, ‘दोनों (कुलदीप और चहल) काफी प्रतिभाशाली गेंदबाज हैं। आईपीएल में उनका अनुभव उनके लिये काफी अहम रहा जिससे उन्होंने भारत के लिये खेलने की अपनी दावेदारी पेश की। ये दोनों काफी सफल भी रहे हैं। हम जानते हैं कि ये कड़ी चुनौती होगी, लेकिन हमारे खिलाड़ी इस चुनौती का सामना करने के लिये तैयार हैं।’

विलियमसन ने कुलदीप का जिक्र करते हुए कहा, ‘क्रिकेट वर्ल्ड में अभी बहुत ज्यादा चाइनामैन गेंदबाज नहीं हैं और जो हैं वे काफी सफल हो रहे हैं। उनका सामना करना चुनौती है।’ विलियमसन ने कहा, ‘निश्चित रूप से उनके (कुलदीप और चहल) गेंदबाज काफी अच्छे हैं, लेकिन ये जरूरी है कि हम यहां की पिचों पर किस तरह से ढलते हैं।’ भारत ने 22 अक्तूबर से मुंबई में हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिये सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को टीम में शामिल नहीं किया जबकि उसने कुलदीप, चहल और बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल को टीम में रखा है। दीवाली से पहले विराट कोहली का ‘धमाका’, खोल दिये कई राज

ये पूछने पर कि क्या वो भारतीय टीम से इन अनुभवी स्पिनरों के बाहर किये जाने से हैरान हैं तो न्यूजीलैंड के कप्तान ने कहा, ‘भारतीय टीम में इतने सारे बेहतरीन खिलाड़ी हैं और वे पिछले कुछ समय से इतना क्रिकेट खेल रहे हैं कि ये सामान्य सी बात है कि कुछ खिलाड़ियों को कुछ निश्चित समय से आराम दिया जायेगा।’ उन्होंने कहा, ‘कभी कभार, जब हमारा व्यस्त कार्यक्रम होता है तो हम भी ऐसा ही करते हैं। सभी खिलाड़ियों का हर समय सभी फॉर्मेट में खेलना असंभव है क्योंकि कार्यक्रम इतना व्यस्त होता है। ऐसा तो होता ही है। लेकिन आपको हमेशा ही पता है कि टीम इंडिया बहुत ही मजबूत होगी।’ (पीटीआई के इनपुट के साथ)