एमएस धोनी  © Getty Images
एमएस धोनी © Getty Images

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी हर मैच के साथ एक नया मुकाम अपने नाम कर रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पुणे वनडे में धोनी 21 गेंदों में 18 रन बनाकर नाबाद रहे। इस दौरान उन्होंने 3 चौके लगाए। टीम इंडिया ने मैच को 6 विकेट से जीतकर सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली। धोनी ने तीन चौकों के साथ ही वनडे क्रिकेट में एक और मुकाम हासिल कर लिया। इस मैच में उतरने से पहले धोनी के नाम 749 चौके थे। उन्होंने मैच में 3 चौके लगाते हुए अपने 750 चौके पूरे कर लिए। वह भारत की ओर से वनडे में 750 चौके पूरे करने वाले सातवें खिलाड़ी हैं वहीं दुनिया के 24वें खिलाड़ी हैं।

भारत की ओर से सबसे ज्यादा चौके लगाने वाले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (2,016), वीरेंद्र सहवाग (1,132), सौरव गांगुली (1,122), राहुल द्रविड़ (950), युवराज सिंह (908) और विराट कोहली (830) हैं। गौर करने वाली बात है कि पिछले दिनों कोहली धोनी से चौके लगाने के मामले में पीछे थे। लेकिन कोहली ने आनन-फानन में उन्हें पीछे ही नहीं बल्कि बहुत पीछे छोड़ दिया है।

टीम इंडिया ने पुणे वनडे में जीत हासिल करते हुए सीरीज 1-1 से बराबर करवा ली है। अब भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि वह कानपुर में भी इसी तरह का क्रिकेट खेलना चाहते हैं। 29 अक्टूबर को ग्रीन पार्क स्टेडियम में होने वाले इस मैच में दोनों टीमों के बीच निर्णायक मुकाबला होगा, ऐसे में कोहली जीत से कम कुछ नहीं चाहते हैं।

पुणे में एम एस धोनी ने स्टंप के पीछे से कहा- चीकू 2-3 खिलाड़ियों को इधर छोड़ दे
पुणे में एम एस धोनी ने स्टंप के पीछे से कहा- चीकू 2-3 खिलाड़ियों को इधर छोड़ दे

मैच के बाद कोहली ने कहा, “हम किसी भी चुनौती के लिये तैयार हैं। हमने वापसी की बात की थी और हम इसमें सफल रहे। कानपुर में भी इसी तरह का क्रिकेट खेलना चाहेंगे।’’ भवुनेश्वर और बुमराह की शानदार गेंदबाजी से भारत ने न्यूजीलैंड को नौ विकेट पर 230 रन पर रोक दिया। दिनेश कार्तिक और शिखर धवन के अर्धशतकों की मदद से चार ओवर बाकी रहते लक्ष्य हासिल कर तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबर कर ली।