India vs New Zealan: Playing in England is far more tougher than New Zealand
Shubman Gill @ Twitter

आगमी दो मैचों की सीरीज के दौरान टेस्‍ट डेब्‍यू की उम्‍मीद लगाकर बैठे युवा बल्‍लेबाज शुबमन (Shubman Gill) गिल का मानना है कि न्‍यूजीलैंड में खेलते वक्‍त हवाओं की दिशा काफी मायने रखती है। हालांकि इसके बावजूद न्‍यूजीलैंड के मुकाबले इंग्‍लैंड की परिस्‍थतियों में खेलना ज्‍यादा मुश्किल है।

पढ़ें:- कुंद पड़ रही जसप्रीत बुमराह की धार! 40 ओवर गेंदबाजी के बावजूद विकेटों की झोली रही खाली

न्‍यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक शुबमन गिल (Shubman Gill) ने कहा, “यहां हवा काफी महत्वपूर्ण चीज होगी, विशेषकर जब आप बल्लेबाजी कर रहे हो. गेंदबाज हवा को लेकर काफी योजना बनाएंगे. गेंद को लगातार हुक और पुल करना आसान नहीं था (ए सीरीज के दौरान हवा के बीच).’’

न्‍यूजीलैंड में इंडिया ए की तरफ से खेलते हुए शबमन गिल (Shubman Gill) ने एक शतक और एक दोहरा शतक जड़ा था। ऐसे में इस बात की संभावना प्रबल है कि उन्‍हें मयंक अग्रवाल के साथ बतौर सलामी बल्‍लेबाज खेलने का मौका मिले। शुबमन गिल ने बताया कि इंग्लैंड में लाल ड्यूक गेंद का सामना करना अधिक चुनौतीपूर्ण लगता है क्योंकि वहां अधिक स्विंग मिल रही होती है.

पढ़ें:- नेपाल के सामने वनडे में महज 35 रन पर ढेर हुई अमेरिकी टीम, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड

‘‘इंग्लैंड में गेंद अधिक स्विंग होती है और न्यूजीलैंड की तुलना में विकेट से भी अधिक मूवमेंट मिलती है. न्यूजीलैंड में गेंद भी थोड़ी अलग होती है लेकिन मुझे लगता है कि जहां तक तेज गेंदबाजों का सामना करने का सवाल है तो इंग्लैंड में खेलना अधिक चुनौतीपूर्ण है.’’